नई दिल्ली: फेसबुक अब प्राकृतिक आपदा जैसी परिस्थितियों में फंसे लोगों की मदद करेगा. फेसबुक ने भारत में ‘डिजास्टर मैप’ नाम से नई सेवा शुरू की है. अमेरिकी कंपनी फेसबुक ने इसके लिए राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकार (एनडीएमए) और गैर सरकारी संगठन सीड्स इन इंडिया से हाथ मिलाया है.

WhatsApp पर नहीं शो होगा ब्लू टिक, इस ट्रिक से पढ़ सकते हैं किसी के भी मैसेज

WhatsApp पर नहीं शो होगा ब्लू टिक, इस ट्रिक से पढ़ सकते हैं किसी के भी मैसेज

इस नए फीचर की मदद से फेसबुक आपदा वाले क्षेत्र में प्रभावित लोगों की सही संख्या जानने में मदद करेगा. राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण एवं अन्य संस्थाओं की मदद से फेसबुक यूजर की लोकेशन के हिसाब से जरूरी जानकारी इकट्ठा करेगा.

केंद्रीय गृह राज्य मंत्री किरण रिजिजू ने कहा कि भारत पहला देश है, जिसने प्राकृतिक आपदाओं की स्थिति में बचाव और राहत कार्यों के लिए सोशल मीडिया पोर्टल फेसबुक के साथ साझेदारी की है.उन्होंने अन्य प्रौद्योगिकी कंपनियों को भी आपदा संबंधित चुनौतियों का सामना करने के लिए समाधान का निर्माण करने के लिए आमंत्रित किया है.

आपदा प्रबंधन पर आयोजित कार्यक्रम में रिजिजू ने कहा कि जरूरत के वक्त लोगों को त्वरित प्रतिक्रिया और जानकारी प्रदान करने में तकनीकी का लाभ उठाया जा सकता है. पूरी दुनिया साझेदारी की ओर आगे बढ़ रही है, जहां आपदा की स्थिति में लोग सरकार के साथ सक्रिय रूप से भागीदारी निभा रहे हैं.

गृह मंत्रालय की ओर से जारी विज्ञप्ति में रिजिजू के हवाले से कहा गया,  यह साझेदारी अपनी तरह की पहली और एक मानक (बेंचमार्क) है. हम पहली सरकार है जिसने आपदा में मदद के लिए फेसबुक के साथ साझेदारी की है. फेसबुक के साथ साझेदारी में शुरू की गई योजना दो प्राकृतिक आपदा प्रभावित राज्यों असम और उत्तराखंड से शुरू होगी.’