अहमदाबाद/नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे ने गुरुवार को अहमदाबाद से मुंबई के बीच चलने वाली भारत की पहली बुलेट ट्रेन के लिए आधारशिला रखी. इस अवसर पर जापान के प्रधानमंत्री आबे ने कहा कि भारत-जापान साझेदारी खास, रणनीतिक और वैश्विक है. इस अवसर पर पीएम मोदी ने कहा कि ये ट्रेन आमरो अहमदाबाद से आमची मुंबई तक जाएगी. जानें- मोदी के भाषण की 10 बड़ी बातें…

पढ़ें- आबे ने दिया ‘जय इंडिया-जय जापान’ का नारा, बोले- अगली बार बुलेट में बैठकर आउंगा

-मैं भारत के लोगों को बधाई देता हूं क्योंकि हमने बुलेट ट्रेन के पुराने सपने को सच करने के लिए एक साहसी कदम उठाया है.

-जापान ऐसा मित्र है जिसने 0.1 फीसदी के ब्याज पर 88,000 करोड़ रुपये का कर्ज दिया.

-जब पहले मैंने बुलेट ट्रेन के बारे में बात की थी तो वे (विपक्ष) कहते थे कि यह बहुत बड़ी बात है और अब जब यह आ गई तो वे कहते हैं कि इसकी क्या जरूरत है.

-बुलेट ट्रेन जापान की ओर से भारत के लिए एक बड़ा तोहफा है. पीएम मोदी बोले कि भले ही टेक्नोलॉजी जापान से मिल रही है, लेकिन बुलेट ट्रेन के संसाधन भारत में ही बनेंगे. देश की कंपनियों को नया रोजगार मिलेगा और मेक इन इंडिया को बल मिलेगा.

-हमारा जोर अब उच्च गति वाले संपर्क पर है जो दूरी घटाएगा और आर्थिक उन्नति सुनिश्चित करेगा.

बुलेट ट्रेन प्रोजेक्ट की शुरुआत- जानें पूरा अपडेट

-अगर कोई ये कहे कि बिना ब्याज के ही लोन ले लो और दस-बीस नहीं, पचास साल में चुकाओ, तो आप यकीन करेंगे क्या? एक अच्छे दोस्त के रूप में सीमा और समय के बंधन से परे.

-बुलेट ट्रेन परियोजना, एक ऐसा प्रोजेक्ट है, जो तेज गति, तेज प्रगति, के साथ-साथ तेज टेक्नोलॉजी के माध्यम से तेज परिणाम लाने वाला है.

-अब धीरे-धीरे चलने का वक्त गया. भारत को तेजी से आगे बढ़ना है तो रफ्तार भी तेज करना होगा.

-पीएम ने कहा कि दशकों से लटके प्रोजेक्ट को पूरा करने का लक्ष्य है. हमने 70 से अधिक छोटे शहरों की हवाई यात्रा शुरू की है.

-पीएम मोदी ने कहा कि आजादी के 70 साल बाद इस प्रोजेक्ट का भूमि पूजन हुआ है, जब 2022 में आजादी के 75 साल पूरे होंगे तब मैं और शिंजो आबे बुलेट ट्रेन में एक साथ बैठेंगे.