नई दिल्ली: गुजरात विधानसभा चुनाव के लिए वडगांव के तकरवाडा और पटोपण गांव में  इलेक्शन कैंपेन के दौरान दलित नेता जिग्नेश मेवाणी के काफिले पर लाठी डंडे से हमला किया गया. उनकी कार पर पत्थर भी फेंके गए. हालांकि इसमें वह बाल-बाल बच गए.

हमले में ठाकोर सेना का एक युवक घायल हो गया. पुलिस ने मामले में शिकायत दर्ज कर ली है. बता दें कि जिग्नेश बनासकांठा जिले के वडगांव-11 सीट से निर्दलीय चुनाव लड़ रहे हैं. कांग्रेस ने उनके खिलाफ कैंडिडेट नहीं उतारा है. यह भी पढ़ें:  गुजरात में नए सर्वे में दिखी कड़ी टक्कर, कांग्रेस खुश, बीजेपी असहमत

ट्विटर पर जिगनेश ने लिखा

हमले के बाद जिग्नेश ने ट्विटर पर कुछ फोटोज शेयर करते हुए लिखा- भाजपा और संघ को ये नहीं पता कि उनके हर हमले से मुझे भाजपा के खिलाफ लड़ने की और ताक़त मिलती जा रही है. संघियों कान खोलकर सुन लो, यह बापू का गुजरात है. मेरे ऊपर हुए हर एक हमले के साथ तुम्हारी हार और बड़ी होती जाएगी.”

उन्होंने कहा, मैं भी गुजरात का बेटा हूं मोदीजी. दिल बड़ा रखा करो, छाती भले 56 इंच की हो न हो. जो जीत रहा हो, उस पर हमला करवाओ, ये आईडिया आपका है या अमित शाह का. क्योकि ये गुजरात की तो परंपरा है नहीं.

वहीं अभी तक हमला करने वाले के बारे में जानकारी नहीं मिल पाई है. पुलिस ने केस दर्ज कर लिया है. पुलिस जांच के बाद ही हमलावरों का पता चल पाएगा.