गुजरात चुनाव की तारीख नजदीक आते आते ओपिनियन पोल ने जोर पकड़ लिया है. इंडिया टीवी-वीएमआर के ओपिनियन पोल में बीजेपी बहुमत मिलता दिख रहा है. पोल के मुताबिक गुजरात में 22 साल बाद इस बार फिर बीजेपी कांग्रेस पर भारी पड़ती दिख रही है. बीजेपी को 106-116 सीटें, कांग्रेस को 63-73 सीटें मिल सकती हैं. बीजेपी को 45 फीसदी जबकि कांग्रेस को 40 फीसदी वोट मिलता दिख रहा है.

उत्तर गुजरात – 53 सीटें

पोल के मुताबिक उत्तर गुजरात की 53 सीटों में बीजेपी को 45 फीसदी और कांग्रेस को 42 फीसदी वोट मिल रहे हैं. यहां 7 जिले आते हैं.  बीजेपी को 30-34 सीटें और कांग्रेस को 18-22 सीटें मिल सकती हैं. अन्य के खाते में 0-2 सीटें आती दिख रही हैं. 2012 में बीजेपी को 50 फीसदी वोटों के साथ 32 सीटें मिली थी.

दक्षिण गुजरात – 35 सीटें

पोल के मुताबिक 35 सीटों वाले दक्षिण गुजरात से बीजेपी को 23-27, कांग्रेस को 6-10 सीटें और अन्य को 1-3 सीटें मिल सकती हैं. यहां इस बार बीजेपी को 46 फीसदी वोट मिल रहे हैं, जबकि 2012 में 52 फीसदी वोट मिले थे. पिछली बार बीजेपी को 28 सीटें और कांग्रेस को 6 सीटें मिली थीं. यानि यहां कांग्रेस को फायदा होता दिख रहा है. दक्षिण गुजरात में ही सूरत है जो कपड़ा और हीरा व्यापार के लिए मशहूर है.

सौराष्ट्र-कच्छ – 54 सीटें

यहां बीजेपी को 27 से 31 सीटें मिलती दिख रही हैं, कांग्रेस को 23-27 सीटें मिलती दिख रही हैं. 2012 में बीजेपी को 35 और कांग्रेस को 16 सीटें मिली थीं. बीजेपी को 44 फीसदी और कांग्रेस को 42 फीसदी वोट मिले थे. यानि कांग्रेस यहां फायदे में दिख रही है.

सेंट्रल गुजरात- 40 सीटें

46 फीसदी ने बीजेपी, 40 फीसदी लोगों ने कांग्रेस को वोट देने की बात कही. 2012 में बीजेपी को इतने ही फीसदी वोट मिले थे. कांग्रेस को 41 फीसदी वोट मिले थे. बीजेपी को यहां 23-27, कांग्रेस को 13-17 सीटें मिल सकती है. बीजेपी को 5 सीटों का फायदा और कांग्रेस को 3 सीटों का नुकसान होता दिख रहा है. सिर्फ मध्य गुजरात में ही बीजेपी को थोड़ा फायदा होता दिख रहा है.

गुजरात में 9 को वोटिंग

गुजरात में 9 दिसंबर को वोटिंग होनी है. मतगणना 18 दिसंबर को होगी, इसी दिन हिमाचल चुनाव की भी मतगणना होगी. इस बार गुजरात में कांग्रेस ने पूरी ताकत झोंक दी है. राहुल गांधी के नेतृत्व में कांग्रेस ने बीजेपी के सामने कड़ी चुनौती पेश की है. राहुल ने गुजरात में एक के बाद एक कई रैलियां कर कांग्रेस को मुकाबले में लाकर खड़ा कर दिया. 

गुजरात विधानसभा चुनाव 2017: पाटीदार आरक्षण संघर्ष समिति ने खोला हार्दिक पटेल के खिलाफ मोर्चा, बीजेपी को समर्थन देने की कही बात

गुजरात विधानसभा चुनाव 2017: पाटीदार आरक्षण संघर्ष समिति ने खोला हार्दिक पटेल के खिलाफ मोर्चा, बीजेपी को समर्थन देने की कही बात

इसके अलावा राहुल ने ओबीसी नेता अल्पेश ठाकोर को पार्टी में शामिल कराकर जोरदार सियासी बाजी खेली. पाटीदार नेता हार्दिक पटेल के साथ भी राहुल ने तालमेल बिठाकर उनके संगठन के लिए कुछ सीटें खाली छोड़ी हैं. वहीं, दलित नेता जिग्नेश मेवानी भी कांग्रेस के पाले में आ चुके हैं. तीनों युवा नेता बीजेपी को कड़ी चुनौती पेश कर रहे हैं.