अहमदाबाद: गुजरात के राजकोट, सुरेंद्रनगर, मोरबी जिलों समेत सौराष्ट्र क्षेत्र के कई हिस्सों में भारी बारिश के चलते तीन लोगों के मरने की खबर है. इस दौरान सैकड़ों लोगों को सुरक्षित जगह पर ले जाया गया.

इन जिलों में बारिश के कारण जनजीवन प्रभावित हुआ और लोगों को बचाने के लिए वायुसेना एवं राष्ट्रीय आपदा मोचन बल को सेवा में लगाया गया है.  राज्य आपदा अभियान केंद्र के अधिकारियों ने बताया कि भारी बारिश के चलते हुई घटनाओं में तीन लोगों की जान चली गई.

सुरेंद्रनगर जिला प्रशासन ने भरादा गांव में फंसे 20 लोगों को बचाने के लिये एनडीआरएफ की मदद से बचाव अभियान चलाया. रक्षा प्रवक्ता ने बताया कि सुरेंद्रनगर जिले में गमताल गांव के ढांगधारा के पास बढ़ती बाढ़ की स्थिति के बीच फंसे चार लोगों को निकालने के लिये भारतीय वायुसेना के एमआई-17वी5 हेलीकॉप्टर को सेवा में लगाया गया.

जिला प्रशासन ने बताया कि बोघवा नदी में गहरे पानी में फंसे तीन लोगों को कल सुबह तक बचाये जाने की संभावना है.
जिलाधीश उदित अग्रवाल ने कहा, जलस्तर कम होने तक इन तीनों लोगों के लिये भोजन, मोबाइल फोन और गर्म कपड़े समेत जरूरी चीजों की आपूर्ति के लिये हमने ड्रोन का इस्तेमाल किया. उन्होंने कहा, अगर रात तक जलस्तर नीचे नहीं आता तो हम सुबह बचाव अभियान शुरू करेंगे.

मुख्यमंत्री विजय रूपानी ने हालात की समीक्षा के लिए रविवार सुबह आपात बैठक की और एनडीआरएफ के दलों को सुरेंद्रनगर जिले के चोतिला और मोरबी जिले के टंकारा में तैनात रहने का आदेश दिया.