नई दिल्‍ली: महिलाओं के बाल को उनका श्रृंगार माना जाता है. लेकिन हरियाणा के एम्‍यूजमेंट पार्क में एक महिला को उसके बाल के कारण ही जान गंवानी पड़ी. य‍ह मामला हरियाणा के पिंजोर स्‍थ‍ित एम्‍यूजमेंट पार्क का है, जहां बाल के चलते ही एक महिला की दर्दनाक मौत हो गई हैैै.

दरअसल, 28 साल की पुनीत कौर अपने पति अमरदीप सिंह, दो बच्‍चों और अपनी सास के साथ पिंजोर के एम्‍यूजमेंट पार्क घूमने आई थी. यहां उसके कुछ और रिश्‍तेदार भी मौजूद थे. पुनीत कौर का पूरा परिवार भटिंडा का रहने वाला है और छुट्ट‍ियां मनाने यहां आया था. भटिंडा वापस लौटते हुए परिवार ने पिंजोर गार्डन में रुकने की योजना बनाई.

एम्‍यूजमेंट पार्क पहुंचने के लिए परिवार ने छह सदस्‍यों के लिए चार गो-कार्ट बुक किया. एक कार्ट में पुनीत कौर अपने पति अमरदीप सिंह के साथ बैठी और दोनों बच्‍चों को दूसरे कार्ट में उनकी दादी के साथ बिठा दिया. दो अन्‍य कार्ट में उनके दूसरे रिश्‍तेदार बैठे.

कार्ट ने एक चक्‍कर पूरा काटा ही था कि पुनीत कौर का जूड़ा खुल गया और उनका बाल कार्ट के रेयर चक्‍के में जाकर फंस गया. कार्ट की स्‍पीड इतनी तेज थी कि कुछ देर में पुनीत कौर का बाल सिर की खाल के साथ नीचे आ गया. महिला को अस्‍पताल में भर्ती किया गया, जहां डॉक्‍टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया.

पुनीत कौर के पति अमरदीप सिंह के अनुसार, यह एम्‍यूजमेंट पार्क की लापरवाही है और इसके खिलाफ पार्क के प्रशासनिक अधिकारियों पर कानूनी कार्रवाई होनी चाहिए. अमरदीप और उनका परिवार पार्क प्रशासन पर एफआईआर दर्ज कराना चाहता है. जबकि पार्क अधिकारियों का कहना है कि एम्‍यूजमेंट पार्क में सुरक्षा के सभी मापदंडों का खासा ख्‍याल रखा जाता है. राइड शुरू करने से पहले ही यह सुनिश्‍च‍ित किया जाता है कि गो-कार्ट में बैठने वाले सभी यात्री हेड गीयर पहन लें. पुनीत कौर के साथ हुआ हादसा एक दुर्घटना है.

दूसरी ओर मृतक पुनीत कौर के पति अमरदीप सिंह का कहना है कि कार्ट की स्‍पीड इतनी तेज थी कि हेड गीयर पहनने के बावजूद यह हादसा हुआ. अगर कार्ट की स्‍पीड कम होती तो हादसे की आशंका कम होती. बता दें कि यह पार्क हरियाणा सरकार का है और इसे एक निजी कॉन्‍ट्रैक्‍टर को लीज पर दिया गया है.