प्रद्युम्न मर्डर केस में नए नए खुलासों के बीच पिता ने एक और खुलासा किया है. प्रद्युम्न के पिता वरुण ठाकुर ने कहा कि हरियाणा के मंत्री नरबीर सिंह पर मर्डर केस की जांच सीबीआई से न कराने की बात कही. अब मंत्री इस पर अपनी सफाई पेश करने में जुटे हैं.

वरुण ठाकुर ने आज कहा कि हरियाणा के मंत्री नरबीर सिंह हमारे पास आए थे और कहा था कि मर्डर केस की सीबीआई जांच पर जोर न दें क्योंकि इसमें समय लगता है. उन्होंने पुलिस जांच पर भरोसा करने की बात कही थी. मैंने कहा कि अगर सीबीआई भी उसी नतीजे पर पहुंचे जिसे पर पुलिस पहुंचे तो मैं इसे मान लूंगा, लेकिन हमें सीबीआई जांच चाहिए.

पढ़ें- प्रद्युम्न मर्डर केसः पुलिस को कैसे बेवकूफ बनाता रहा 11वीं का छात्र? जांच कर रही CBI

मंत्री की सफाई

वहीं, मंत्रीजी ने इस पर सफाई करते हुए कहा कि मैंने सिर्फ इतना कहा था कि कोई भी सरकार घटना के दिन ही इसकी सीबीआई जांच के लिए नहीं कह सकती. मैंने पीड़ित परिवार से कहा था कि पुलिस को एक हफ्ते जांच करने दें, अगर आप संतुष्ट ना हों तो सीबीआई जांच की सिफारिश कराई जाए.

प्रद्युम्न मर्डर केस में सीबीआई ने रेयान स्कूल के 11वीं के छात्र को गिरफ्तार किया है. इस छात्र ने अपना गुनाह कबूल करते हुए प्रद्युम्न की हत्या की बात भी स्वीकार कर ली. सीबीआई के मुताबिक इस छात्र ने पीएमटी और परीक्षा टलवाने के लिए प्रद्युम्न की हत्या कर डाली और पुलिस का मुख्य गवाह भी बन बैठा.

उधर, गुड़गांव पुलिस ने कुछ ही दिनों में कंडक्टर अशोक कुमार को गिरफ्तार करते हुए उसे गुनहगार बता दिया. खुद अशोक ने मीडिया के सामने अपना गुनाह कबूला. हालांकि, सीबीआई जांच के बाद छात्र हत्यारोपी पाया गया जिससे पुलिस की भूमिक संदिग्ध हो उठी है और अब सीबीआई एसआईटी के सदस्यों से भी पूछताछ कर रही है.