जोधपुर. काले हिरण के शिकार मामले में शनिवार को सेशंस कोर्ट से जमानत मिलने केे के बाद सलमान खान मुंबई के लिए रवाना हो गए हैं. जोधपुर सेंट्रल जेल से निकलकर वे जोधपुर एयरपोर्ट पहुंचे. यहां से चार्टर्ड प्‍लेन से वे मुंबई रवाना होंगे. इससे पहलेे शुक्रवार-शनिवार की दरमियानी रात 87 जजों के ट्रांसफर हो गए थे, जिसमें सलमान के बेल पर सुनवाई करने वाले जज भी शामिल थे. ऐसे में कयास लगाया गया जा रहा था कि उनकी जगह आए जज रविंद्र कुमार जोशी उन्हें बेल देते हैं या नहीं.

जज ने सलमान को 50 हजार के निजी मुचलके पर बेल दिया है. इसके साथ ही उन्हें बाहर जाने के लिए कोर्ट से इजाजत लेनी होगी. सलमान के बेल की खबर मिलते ही कोर्ट के बाहर सलमान खान जिंदाबाद के नारे लगने लगे.

बता दें कि काले हिरण केस में सलमान कान को 5 साल कैद और 10 हजार रुपये जुर्माना की सजा सुनाई है. कोर्ट में सलमान खान 15वें नंबर पर लिस्टेड हैं. सलमान की बेल की सुनवाई को सुनने के लिए उनकी बहन अलवीरा और अर्पिता उनके वकील और बॉडीगॉर्ड कोर्ट पहुंचे थे.

सलमान की बहनों और वकील के पहुंचने पर मीडियाकर्मियों ने उन्हें घेर लिया था. बताया जा रहा है कि ऐसे में सलमान के बॉडीगार्ड ने उनके साथ धक्कामुक्की की. इसके बाद पुलिस ने सलमान के दूसरे बॉडीगार्ड को कोर्ट के अंदर जाने से रोक दिया था.

गुरुवार को हुई थी सजा
बता दें कि जोधपुर सेशंस कोर्ट ने गुरुवार को सलमान को काले हिरण के शिकार के मामले में सजा सुनाई थी. सीजीएम देव कुमार खत्री ने मामले में फैसला देते हुए सलमान को पांच साल कैद की सजा सुनाई, साथ ही उन पर 10 हजार रुपये का जुर्माना लगाया था. सलमान खान की ओर से दायर सजा के खिलाफ और बेल के लिए दायर याचिका पर जज रविंद्र कुमार जोशी ने सुनवाई की थी और अपना फैसला शनिवार तक सुरक्षित रख लिया था.

ये है आरोप
आरोप है कि फिल्म ‘हम साथ-साथ हैं’ की शूटिंग के दौरान 1 और 2 अक्टूबर, 1998 की दरमियानी रात को सलमान खान ने जोधपुर में लूणी थाना इलाके के कांकाणी गांव में दो काले हिरणों का शिकार किया था. इस दौरान उनके साथ कार में उनके फिल्म के को स्टार सैफ अली खान, तब्बू, नीलम, सोनाली बेंद्रे के साथ ही स्थानीय निवासी दुष्यंत सिंह भी मौजूद थे. गवाहों ने कोर्ट को बताया था कि सलमान खान ने हिरणों का शिकार किया तो उस समय ये सभी आरोपी जिप्सी गाड़ी में सवार थे.