नई दिल्ली। पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी पूरी तरह से ठीक हैं. सोशल मीडिया पर उड़ी उनके निधन की खबर पूरी तरह झूठी है. दरअसल, वाट्सऐप पर खबर उड़ रही है कि 29 मार्च को वाजपेयी का निधन हो गया है और बीजेपी ने इसकी पुष्टि भी की है. लेकिन ऐसा नहीं है. बीजेपी की तरफ से ऐसा कुछ नहीं कहा गया है.

ऐसा पहली बार नहीं है जब सोशल मीडिया पर इस तरह की अफवाह फैली है. इससे पहले भी ऐसा हो चुका है. इन दिनों अटल बिहारी वाजपेयी राजनीति से संन्यास लेकर नितांत निजी जीवन बिता रहे हैं.

2015 में भी इसी तरह की एक खबर ने सभी का ध्यान खींचा था. तब ओडिशा के एक स्कूल के हेडमास्टर ने अटल बिहारी वाजपेयी के निधन की झूठी खबर पर स्कूल बंद करा दिया था. हालांकि, बाद में उन्हें खबर की सही से पुष्टि हुए बिना ही ऐसा कदम उठाने के आरोप में सस्पेंड कर दिया गया था.

वाट्सऐप पर अटल बिहारी वाजपेयी के निधन की खबर इन दिनों वायरल हो रही है. ऐसे संदेश किसी अज्ञात सोर्स से भेजे गए हैं. पूर्व प्रधानमंत्री इन दिनों व्हील चेयर पर जरूर हैं लेकिन वह जिंदा हैं. इसलिए आपके पास अगर वाट्सऐप से ऐसा कोई मैसेज आए तो उस पर कतई यकीन ना करें.