भारत के नाम एक और उपलब्धि जुड़ी है. अब वह दुनिया में रसोई गैस (LPG) का दूसरा सबसे बड़ा आयात करने वाला देश हो गया है. भारत के आगे अब सिर्फ चीन है. तीसरे नंबर पर जापान है. बताया जा रहा है कि भारत को यह उपलब्धि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ‘उज्ज्वला योजना’ के कारण हासिल हुई है. इस योजना के कारण ही रसोई गैस की डिमांड में साल 2017-18 में 8 प्रतिशत तक बढ़ी है.

यहां ध्यान देने योग्य बात यह है कि भारत ने रसोई गैस के आयात के मामले में जापान को पिछाड़ा है. कच्चे तेल की खपत के मामले में जापान दुनिया में तीसरे नंबर पर है. उससे आगे सिर्फ अमेरिका और चीन हैं. यहां एक और अच्छी चीज है कि दोनों इंटरनेशनल एनर्जी एजेंसी और ओपेक भारत को आने वाले 10 साल में ग्लोबल तेल की डिमांड में सबसे आगे मान रही हैं.

9 करोड़ नए रसोई गैस के कनेक्शन
बता दें कि हाल ही में केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने दावा किया था कि पिछले चार साल में 9 करोड़ नए रसोई गैस के कनेक्शन बांटे गए हैं. इसमें 3.5 करोड़ कनेक्शन प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के अंतर्गत दिए गए हैं. उन्होंने कहा था कि रसोई गैस की खपत में भारत में तेजी से वृद्धि हुई है. उन्होंने जोर दिया कि सरकार का प्रयास है कि साल 2020 तक 9 करोड़ ऐसे लोगों तक रसोई गैस को पहुंचाया जाए, जो गरीबी रेखा के नीचे रहते हैं.

साल 2016 में पीएम ने किया था लॉन्च
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मई 2016 में उज्ज्वला योजना को लॉन्च किया था. इसके अंतर्गत सरकार गरीबी रेखा के नीचे जीने वाले परिवार को 1600 रुपये प्रति कनेक्शन के हिसाब से सपोर्ट करते हुए गैस उपलब्ध कराती है. गरीब परिवार की महिला सदस्यों को मुफ्त रसोई गैस कनेक्शन मुहैया कराने के लिए केंद्रीय मंत्रिमंडल ने 8,000 करोड़ रुपये की योजना को मंजूरी दी है.