नई दिल्लीः मई महीने में पड़ने वाली गर्मी की छुट्टियों में आप कहीं घूमने जाने वाले हैं और ट्रेन से यात्रा करने वाले हैं तो आपको रेल टिकट बुकिंग से जुड़े नियमों में हुए बदलावों के बारे में जरूर जान लेना चाहिए. हाल ही में IRCTC ने ऑन लाइन रेल टिकट बुकिंग से जुड़े नियमों में व्यापक बदलाव किए हैं. पिछले दिनों लोकसभा में एक सवाल के लिखित जवाब में रेल राज्यमंत्री राजन गोहांई ने इसकी जानकारी दी थी. सरकार ने तत्काल सहित ऑन लाइन टिकट सिस्टम को और मजबूत बनाने के लिए ये बदलाव किए हैं. अगर आप रेल टिकट बुक कराने वाले हैं तो इन नियमों को जरूर जान लें….

आज ही के दिन चली थी पहली रेलः इस लाइन को बिछाने में चली गई थी 25 हजार मजदूरों की जान

– एक आईडी से आप मासिक केवल छह टिकट बुक करा सकते हैं. अगर आपका आईडी आधार से लिंक है तो आप मासिक 12 टिकट बुक करा सकते हैं.
– सुबह 8 से 10 बजे के बीच आप केवल दो टिकट ही बुक करा सकते हैं.
– एक सिंगल आईडी से 10 से 12 बजे के बीच केवल दो तत्काल टिकट बुक करवाए जा सकते हैं.
– तत्काल बुकिंग में आप किसी दो स्टेशनों के बीच एक बार में केवल छह बर्थ या सीट बुक करा सकते हैं.
– एक सेशन में केवल एक तत्काल टिकट बुक किया जा सकता है. हालांकि रिटर्न जर्नी पर यह लागू नहीं होगा.
– सुबह 8 बजे से दोपहर 12 बजे के बीच सिंगल पेज या क्विक बुक सर्विस उपलब्ध नहीं होता.
– आप एक समय में एक ही जगह लॉग इन कर सकते हैं.
– ऑथोराइज्ड एजेंट सुबह 8 से 8.30, 10 से 10.30 और 11 से 11.30 के बीच टिकट बुक करा सकेंगे.
– ऑन लाइन रिजर्वेशन खुलने के 30 मिनट के भीतर ऑथोराइज्ड ट्रेवल एजेंट तत्काल टिकट बुक नहीं करवा सकते हैं.
– ऑनलाइन टिकट बुकिंग को टाइम सेंसेटिव बनाया गया है. 25 सेकंड में आपको पूरी जानकारी भरनी होगी.
– अब यात्री रिफंड भी क्लेम कर सकते हैं.
– अगर ट्रेन शेड्यूल डिपार्चर टाइम के 3 घंटे के भीतर नहीं चलती है तो आप रिफंड क्लेम कर सकते हैं.
– अगर ट्रेन का रूट डायवर्ट किया गया है और आप उस रूट से नहीं जाना चाहते हैं तो भी रिफंड क्लेम कर सकते हैं.
– अगर रेलवे ने आपका क्लास बदलकर आपको लोवर क्लास में शिफ्ट कर दिया है और आप यात्रा नहीं करना चाहते हैं तो आप रिफंड क्लेम कर सकते हैं.