नई दिल्ली. केंद्रीय पर्यावरण मंत्री हर्षवर्धन ने कहा कि दिल्ली में खराब हवा को लेकर घबराने की कोई जरूरत नहीं है और उम्मीद है कि हालात अगले कुछ दिन में सामान्य हो जाएंगे. बता दें जहां राजधानी को हफ्ते भर से जहरीली धुंध ने अपने आगोश में ले रखा है. वहीं मंत्री हर्षवर्धन ने कहा कि इससे नियमित सवाधानी से बचा जा सकता है.

सीएनएन-18 को दिए गए एक इंटरव्यू में केंद्रीय पर्यावरण मंत्री हर्षवर्धन ने कहा कि भोपाल गैस रिसाव एक इंडस्ट्रियल डिजास्टर था. उस हादसे में तकरीबन 25000 लोगों की मौत हो गई थी. उससे दिल्ली के स्मॉग की तुलना नहीं किया जा सकता है. मै मानता हूं दिल्ली में वायु प्रदूषण और स्मॉग एक चिंता का विषय है लेकिन उससे घबराने की जरूरत नहीं है.

ऑड ईवन: NGT का महिलाओं और दोपहिया वाहनों को छूट देने से साफ इनकार

ऑड ईवन: NGT का महिलाओं और दोपहिया वाहनों को छूट देने से साफ इनकार

उन्होंने कहा कि हमें पर्याप्त सतर्कता बरतनी होगी कि हम ज्यादा से ज्यादा घर के अंदर रहें और अपने बच्चों को ज्यादा प्रदूषित हवा में नहीं जाने दें. उन्होंने कहा, ”हमें सकारात्मक भूमिका निभानी होगी और हालात सुधारने में सकारात्मक योगदान देना होगा.” केंद्रीय मंत्री ने कहा कि दिल्ली और पड़ोसी राज्यों की सरकारों को अपनी अपनी जिम्मेदारी निभानी चाहिए.

गौरतलब हो कि मौसम विभाग के अनुसार, दिल्ली में 14 और 15 नवंबर को हल्की बारिश होने का अनुमान है जिससे स्मॉग छंट जाएगा और दिल्ली के लोगों को कुछ राहत मिलेगी. दिल्ली में पिछले कुछ दिनों से घना स्मॉग होने की वजह से वायू प्रदूषित हो गई और इसमें सुधार के लिए प्रशासन ने निर्माण गतिविधियों पर रोक तथा पार्किंग शुल्क में चार गुना वृद्धि सहित कुछ आपात कदम उठाए हैं. स्मॉग का मौसम सबसे अधिक दमा के रोगियों की परेशानी का सबब बना हुआ है.