जम्मू: जम्मू-कश्मीर कांग्रेस के अध्यक्ष गुलाम अहमद मीर ने रविवार को उन आरोपों को खारिज किया जिसमें दावा किया जा रहा था कि उन्होंने कठुआ बलात्कार मामले में राज्य पुलिस की जांच पर सवाल उठाए हैं. मीर ने कहा कि उन्होंने इस मामले में राज्य पुलिस की जांच पर कभी सवाल नहीं उठाए और उनके इस मुद्दे को उठाने के बाद ही जांच शुरू की गई.

मीर की यह टिप्पणी ऐसे वक्त में सामने आई है जब भारतीय जनता पार्टी ने रविवार सुबह ही एक वीडियो जारी किया था जिसमें कथित तौर पर मीर को कठुआ बलात्कार मामले की पुलिस जांच को प्रेरित बताते हुए और उसके खिलाफ लोगों के प्रदर्शन का बचाव करते हुए देखा गया. उन्होंने कहा, “यह एक पुराना वीडियो है, मैंने वह बयान मार्च में दिया था, उन्होंने कहा कि कठुआ मामले में यह मास्टरमाइंड और मुख्य आरोपियों और अन्य की गिरफ्तारी से पहले का था.’’

भगवा पार्टी ने राहुल गांधी से मीर को हटाने की भी मांग की है. मीर ने कहा, “यह मेरे बयान के बाद ही था कि मुख्य आरोपी और मास्टरमाइंड सांजी राम और अन्य को गिरफ्तार किया गया. मैंने कभी भी जम्मू-कश्मीर पुलिस की जांच पर सवालिया निशान नहीं लगाए. मैंने कभी सीबीआई जांच की मांग नहीं की.”

भाजपा के नई दिल्ली स्थित मुख्यालय में एक संवाददाता सम्मेलन के दौरान चलाए गए इस वीडियो में मीर संवाददाताओं से कथित रूप से यह कहते हुए दिख रहे हैं कि स्थानीय लोगों का मानना है कि जांच प्रेरित थी और मुख्य अपराधी अब भी आजाद घूम रहे हैं.