जम्मू: जम्मू कश्मीर के राजौरी जिले में नियंत्रण रेखा पर पाकिस्तानी सेना की भारी गोलीबारी और मोर्टार हमले में दो जवान शहीद हो गए. रक्षा विभाग के एक प्रवक्ता ने बताया , ‘ पाकिस्तानी सेना ने सोमवार शाम नियंत्रण रेखा से लगे सुन्दरबनी सेक्टर में सवा पांच बजे स्वचालित हथियारों और मोर्टार से बिना उकसावे के अंधाधुंध गोलीबारी की और मोर्टार दागे. उन्होंने बताया कि भारतीय जवानों ने इसका मुंहतोड़ जवाब दिया.

प्रवक्ता ने बताया कि गोलीबारी में राइफलमैन विनोद सिंह और राइफलमैन जाकी शर्मा गंभीर रूप से घायल हो गये और बाद में उन्होंने दम तोड़ दिया. सिंह (24) जम्मू कश्मीर में अखनूर जिले के दानापुर गांव के रहने वाले थे. उनके परिवार में उनके पिता अजीत सिंह हैं.

शर्मा (30) जम्मू में हीरानगर जिले के सांहैल गांव के रहने वाले थे. उनके परिवार में उनकी पत्नी रजनी देवी हैं. रक्षा प्रवक्ता ने बताया , ‘ राइफलमैन विनोद सिंह और राइफलमैन जाकी शर्मा बहादुर और ईमानदार सिपाही थे. राष्ट्र सर्वोच्च बलिदान और कर्तव्य के प्रति समर्पण के लिए हमेशा उनका ऋणी रहेगा.

अधिकारियों ने बताया कि 2018 के पहले दो महीनों में सीमा पार से सीज फायर वॉयलेशन की 633 घटनाएं हुई हैं. इनमें से 432 घटनाएं लाइन ऑफ कंट्रोल और 201 घटनाएं अंतरराष्ट्रीय सीमा के पास हुई हैं. सीमा पार से सीज फायर की इन घटनाओं में 10 सुरक्षा जवान और 12 आम नागरिकों ने अपनी जान गंवाई है.

पिछले साल लाइन ऑफ कंट्रोल पर सीजफायर उल्लंघन की 860 घटनाएं और इंटरनेशनल बॉर्डर पर 111 घटनाएं घटीं. इन घटनाओं में 12 आम नागरिक मारे गए वहीं 59 घायल हुए. आर्मी के 6 जवान और बीएसएफ के जवान शहीद हुए. वहीं 18 आर्मी जवान और 22 बीएसएफ जवान घायल हुए.