नई दिल्ली, 28 नवंबर | जम्मू एवं कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने सोमवार को यहां प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात की और अशांत कश्मीर घाटी के लोगों की मदद के मुद्दे पर विचार-विमर्श किया। घाटी में हालात में धीरे-धीरे सुधार हो रहा है। प्रधानमंत्री से मुलाकात के दौरान महबूबा ने उन्हें नोटबंदी के लिए बधाई दी और 500 और 1000 रुपये के नोट को बंद करने के फैसले को ऐतिहासिक बताते हुए इसकी सराहना की।

प्रधानमंत्री से मुलाकात के बाद उन्होंने मीडिया कर्मियों से कहा, “पिछले एक माह से घाटी में हालात धीरे-धीरे सुधर रहे हैं। अब कुल मिलाकर वहां स्थिति अच्छी है।” “पिछले तीन-चार माह से वहां विकास कार्य रुके पड़े हैं वहां के लोगों को बहुत नुकसान उठाना पड़ा है। हमलोगों ने उनके नुकसान की भरपाई किस तरह हो इस बारे में चर्चा की। वहां के लोगों ने इन मुश्किल दिनों में जो जख्म झेले उन पर मरहम किस तरह लगाया जाए इस पर चर्चा की।” यह भी पढ़ेंः जब प्रधानमंत्री मोदी ने ममता बनर्जी को दिया था करारा जवाब

भारतीय जनता पार्टी के साथ गठबंधक कर राज्य में सत्तारूढ़ पीपुल्स डेमाक्रेटिक पार्टी की नेता ने कहा, “हम लोगों ने पहले से ही बेहतर हो रही स्थिति को और बेहतर किस तरह बनाएं इस पर विमर्श किया।” सुरक्षा बलों के साथ मुठभेड़ में हिजबुल कमांडर बुरहान वानी के मारे जाने के बाद से गत 9 जुलाई से कश्मीर अशांत है।

जम्मू एवं कश्मीर में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के सहयोग से सरकार चला रहीं महबूबा ने कहा, “यह कोई साधारण फैसला नहीं है। यकीनन, आम लोगों को कुछ दिनों के लिए परेशानी होगी। जब भी इस तरह के बड़े फैसले लिए जाते हैं तो कुछ असुविधा भी होती है। लेकिन मुझे लगता है कि यह ऐतिहासिक फैसला है।”