नई दिल्ली। जम्मू-कश्मीर के राजौरी इलाके में पाकिस्तानी सेना ने सीमापार से संघर्षविराम का उल्लंघन किया. गोलीबारी में एक जवान शहीद हो गया और एक 6 साल की मासूम बच्ची की भी मौत हो गई. शहीद जवान का नाम नायक मुदस्सर अहमद है. गोलीबारी में 9 साल की साजिदा कौसर की भी मौत हो गई. दो अन्य लोग घायल भी हुए हैं. सेना के एक अधिकारी ने बताया कि इलाके के स्कूल अनिश्चितकाल के लिए बंद कर दिए गए हैं. गोलीबारी कम होने पर स्थान को खाली कराया जाएगा.


पाकिस्तानी सेना ने नियंत्रण रेखा पर पुंछ के बालाकोट और राजौरी के मंजाकोट में गोलीबारी की. इस घटना पर भारतीय सैनिकों ने भी जवाबी गोलीबारी की. मी़डिया रिपोर्ट्स के मुताबिक भारतीय सैनिकों ने उनके वाहनों पर हमला किया जिससे उनके चार जवान नदी में डूब गए. एक रक्षा प्रवक्ता ने बताया ‘पाकिस्तान की सेना ने सुबह करीब साढ़े सात बजे राजौरी सेक्टर और पुंछ जिले में भारतीय सेना की चौकियों पर बिना किसी उकसावे के गोलीबारी की. भारतीय सेना ने करारा और प्रभावी जवाब दिया.’ प्रवक्ता ने बताया कि गोलीबारी के दौरान एक मोटार्र सेना के बंकर पर गिरा जिससे नायक मुदस्सर अहमद गंभीर रूप से घायल हो गए. उन्हें एमआई कक्ष ले जाया गया जहां उन्होंने दम तोड़ दिया. 

चू गांव के निवासी, 37 वर्षीय अहमद के परिवार में उनकी पत्नी शाहीना मुदस्सर और दो बच्चे हैं. प्रवक्ता ने बताया कि ोअहमद एक बहादुर और ईमानदार सिपाही थे. उन्हें अपने काम से बहुत प्यार था. उन्होंने कहा कि देश मुदस्सर के सर्वोच्च बलिदान एवं दायित्व के प्रति उनके समर्पण का सदैव ऋणी रहेगा. एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि पाकिस्तान ने बालाकोट, मांजाकोट और बारोटी पट्टी में रिहायशी इलाकों पर भी मोर्टार दागे.  पुलिस अधिकारी ने बताया कि गोलीबारी और गोलाबारी के दौरान बारोटी में नौ साल की बच्ची सजदा हौजर भी मारी गई.

राजौरी के एक वरिष्ठ जिला अधिकारी ने बताया कि राजौरी जिले की मांजाकोट पट्टी में गोलीबारी के दौरान दो नागरिक घायल हो गए जिन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया है. एक जवान भी घायल हुआ है. उन्होंने बताया कि मांजाकोट और बालाकोट पट्टियों में सभी स्कूल बंद कर दिए गए हैं और लोगों को भीषण गोलाबारी की वजह से घरों से बाहर न आने की सलाह दी गई है. जम्मू कश्मीर में इस साल जुलाई में नियंत्रण रेखा पर पाकिस्तानी सेना की ओर से किए गए संघर्षविराम उल्लंघन में चार जवानों सहित सात लोगों की जान जा चुकी है.

चार पाक जवान ढेर 

वहीं, पाक ने रविवार को आरोप लगाया है कि नीलम घाटी में पाकिस्तान की सेना की जीप पर भारत की गोलीबारी ने 4 सैनिक कर्मियों को डूबने और हत्या कर दी थी. पाक सेना के प्रवक्ता मेजर जनरल आसिफ गफूर ने बताया कि पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर पीओके में मुजफ्फराबाद से 73 किलोमीटर की दूरी पर स्थित आठमुकाम में नीलम नदी के पास चल रहे वाहन को निशाना बनाया गया.

सेना के मुताबिक पाकिस्तानी सैनिकों ने बिना किसी उकसावे के भारतीय सेना की अग्रिम चौकियों को निशाना बनाया. दोपहर 2 बजकर 20 मिनट पर न केवल छोटे हथियारों से फायरिंग की गई, बल्कि मोर्टार के गोले भी दागे गए. भारत ने जवाबी कार्रवाई की जिसमें पाकिस्तानी जवान मारे गए.

 

जम्मू कश्मीर में इस साल जुलाई में नियंत्रण रेखा पर पाकिस्तानी सेना की ओर से किए गए संघर्षविराम उल्लंघन में चार जवानों सहित सात लोगों की जान जा चुकी है.  पाकिस्तान की ओर से बिना उकसावे के गोलीबारी लगातार जारी है. उस पर पाकिस्तान अक्सर भारतीय उच्चायुक्त को ये कहकर तलब कर रहा है कि एलओसी पर भारत की ओर से गोलीबारी की जा रही है.