नई दिल्लीः कर्नाटक में एक महीने बाद विधानसभा चुनाव होने वाले हैं. बीजेपी ने अपने उम्मीदवारों की पहली लिस्ट जारी कर दी है. वहीं कांग्रेस की पहली लिस्ट गुरुवार जारी होने की उम्मीद है. इस बीच खबर है कि मुख्यमंत्री सिद्धारमैया दो सीटों से चुनाव लड़ेंगे. वहीं मुख्यमंत्री सिद्धारमैया ने अपने छोटे बेटे यतींद्र के लिए वरुणा विधानसभा सीट खाली करने का फैसला किया है. वरुणा विधानसभा सीट कर्नाटक की सबसे प्रतिष्ठित सीटों में से एक है. यह सीट 2008 में अस्तित्व में आई है, तब से मुख्यमंत्री सिद्धारमैया इस सीट पर जीतते आ रहे हैं. पिछली बार इस सीट पर उन्होंने 30 हजार वोटों से जीत हासिल की थी.

अगर वरुणा सीट पर सिद्धारमैया अपने बेटे यतींद्र को उतारते हैं तो बीजेपी के सीएम पद के उम्मीदवार बीएस येदियुरप्पा के बेटे विजयेंद्र इस सीट से यतींद्र को चुनौती देते दिख सकते हैं. यानी वह इस सीट से चुनाव लड़ सकते हैं. यानी इस हाई प्रोफाइल सीट पर कांग्रेस के मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार और बीजेपी के मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवारों के बेटों के बीच मुकाबला देखने को मिल सकता है.

यह भी पढ़ेंः कर्नाटक चुनावः कांग्रेस का पीछा नहीं छोड़ रहा वंशवाद, बेटे-बेटियों के लिए लगी टिकट की होड़

सूत्रों का कहना है कि सिद्धारमैया चामुंडेश्वरी से चुनाव लड़ सकते हैं. इससे पहले 1983 से 2008 तक चामुंडेश्वरी सीट से वह सात बार चुनाव लड़ चुके हैं. हालांकि कांग्रेस पार्टी के अंदर ही नेताओं का कहना है कि उन्हें सेफ सीट बदामी से भी लड़ना चाहिए. अगर सिद्धरमैया बदामी से चुनाव लड़ते हैं तो इससे कांग्रेस को नॉर्थ कर्नाटक में फायदा मिलेगा.

12 अप्रैल को जारी हो सकती है कांग्रेस की लिस्ट
आईसीसी स्क्रिनिंग कमिटी के हेड मधुसूदन मिस्त्री, जनरल सेक्रेटरी केसी वेणुगोपाल, मुख्यमंत्री सिद्धरमैया और पीसीसी कर्नाटक अध्यक्ष परमेश्वर ने मंगलवार को मुलाकात की और उम्मीदवारों की लिस्ट पर चर्चा की. सीएम और पीसीसी चीफ राहुल गांधी से मुलाकत कर सकते हैं जिससे वे उम्मीदवारों के चयन को लेकर अपनी स्ट्रेटजी का खुलासा राहुल गांधी के सामने कर सकें. गौरतलब है कि कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी ने कांग्रेस नेता परमेश्वर के नेतृत्व में 43 सदस्यी कमिटी का गठन किया है जो उम्मीदवारों के चयन को लेकर सेंट्रल कमिटी को अपनी रिपोर्ट देगी. कांग्रेस के उम्मीदवारों की लिस्ट 12 अप्रैल को जारी हो सकती है.

यह भी पढ़ेंः कर्नाटक चुनावः ‘अगर कांग्रेस की हुई जीत तो भाजपा में आएगी विद्रोह की सुनामी’

सोशल मीडिया पर फर्जी लिस्ट 
वहीं कर्नाटक विधानसभा चुनाव से पहले कांग्रेस की स्क्रीनिंग कमेटी की बैठक हुई , जिसमें 12 मई को होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए संभावित उम्मीदवारों को लेकर चर्चा की गई. पार्टी के एक नेता ने यहां इसकी जानकारी दी. स्क्रीनिंग कमेटी उम्मीदवारों की सिफारिश पार्टी की केंद्रीय चुनाव समिति को करेगी , जिसके प्रमुख कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी हैं. कांग्रेस ने सोशल मीडिया पर शेयर की जा रही पार्टी उम्मीदवारों की सूची को फर्जी बताकर इस खबर को खारिज कर दिया है. पार्टी महासचिव और कर्नाटक प्रभारी के सी वेणुगोपाल ने कहा , ‘‘ मैं स्पष्ट करना चाहूंगा कि यह फर्जी प्रेस विज्ञप्ति है और एआईसीसी ने कोई प्रेस विज्ञप्ति जारी नहीं की है.