नई दिल्ली। केरल की राजधानी तिरुवनंतपुरम में यौन उत्पीड़न की शिकार युवती ने एक हिन्दू आश्रम के 54 वर्षीय स्वामी का निजी अंग चाकू से काट डाला. युवती का आरोप है कि वह पिछले छह वर्षों से उसके साथ यौन दुर्व्यवहार कर रहा था, जिससे तंग आकर उसने ऐसा किया. तिरुवनंतपुरम मेडिकल कॉलेज अस्पताल प्रशासन की ओर से शनिवार को जारी बयान के अनुसार, कोल्लम के पास स्थित एक हिंदू आश्रम के हरी स्वामी को शुक्रवार रात करीब 12.39 बजे अस्पताल लाया गया. स्वामी का निजी अंग करीब 90 प्रतिशत कटा हुआ था.

डॉक्टरों की एक टीम ने स्वामी की प्लास्टिक सर्जरी कर दी और अब वह खतरे से बाहर है. युवती ने बताया कि स्वामी अक्सर उनके घर आया करता था और धार्मिक अनुष्ठान करता था. उसने बताया कि वह तब से उसके उत्पीड़न को लेकर परेशान थी, जब वह 12 कक्षा में पढ़ती थी.

घटना शुक्रवार रात की है, जब युवती ने चाकू से स्वामी के निजी अंग को काट डाला. स्थानीय पुलिस ने स्वामी के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है. वहीं, केरल के मुख्यमंत्री पिनरई विजयन ने इस घटना पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि इसमें कोई शक नहीं है कि युवती ने एक साहसी कदम उठाया है.

उधर, राज्य महिला आयोग की सदस्य प्रमीला देवी ने भी कहा कि उन्हें युवती के ऐसा करने पर गर्व है. देवी ने कहा कि किसी भी व्यक्ति की ऐसी हरकत को बर्दाश्त नहीं किया जा सकता और खासतौर पर धार्मिक आड़ में, चाहे वह किसी भी धर्म से जुड़ा हो; बल्कि ऐसे लोगों को तो सभी के लिए आदर्श होना चाहिए. इस बीच, पुलिस युवती के खिलाफ कानूनी कार्रवाई को लेकर उलझन में है.

आईएएनएस इनपुट के साथ