चंडीगढ़, 29 नवंबर| पंजाब पुलिस ने मंगलवार को अतिसुरक्षित नाभा जेल पर हुए हमले की साजिश रचने वाले तीन व्यक्तियों को गिरफ्तार किया। गिरफ्तार किए गए तीनों व्यक्तियों की पहचान सहायक जेल अधीक्षक भीम सिंह, जेल के मुख्य वार्डन जगमीत सिंह और मिठाई की दुकान चलाने वाले स्थानीय तेजिंदर शर्मा के रूप में हुई है।

गौरतलब है कि रविवार को दर्जन भर से अधिक हथियारबंद लोगों ने नाभा जेल पर हमला कर छह खूंखार कैदियों को भगा ले गए थे। जेल अधिकारियों को जहां हमलावरों के साथ मिलीभगत कर हमले में सहयोग देने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है, वहीं दुकानदार तेजिंदर शर्मा को पुलिस से जानकारी छिपाने के आरोप में गिरफ्तार किया गया।

पुलिस सूत्रों के मुताबिक, जेल के नजदीक ही स्थित तेजिंदर शर्मा की दुकान में ही इस साजिश की योजना तैयार की गई थी। पंजाब पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने आईएएनएस को बताया, “तीनों को आपराधिक षड्यंत्र रचने, जेल पर हमले में मदद करने और अपराध के लिए उकसाने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है। मामले में जांच और छापेमारी जारी है। हम इस साजिश की तह तक जाएंगे।”

जेल पर हुए हमले में भागे छह खूंखार कैदियों में शामिल खालिस्तान लिबरेशन फोर्स (केएलएफ) का आतंकवादी हरमिंदर सिंह मिंटू सोमवार को दिल्ली से गिरफ्तार किया जा चुका है, जबकि हमले में शामिल परमिंदर सिंह को भी उत्तर प्रदेश के शामली से गिरफ्तार कर लिया गया है। हालांकि जेल से भागे पांच अन्य कैदी आतंकवादी कश्मीर सिंह, गैंगस्टर हरजिंदर सिंह भुल्लर उर्फ विकी गोंडर, गुरप्रीत सिंह सेखोन उर्फ सोनू मुडकी, कुलप्रीत सिंह उर्फ नीता देओल और अमनदीप धोतियान अभी भी फरार हैं।