लखनऊ /मेरठ, 1 दिसंबर| दिल्ली के मुख्यमंत्री और आम आदमी पार्टी (आप) के संयोजक अरविंद केजरीवाल ने गुरुवार को कहा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ऐलान किया है कि जिसके पास काला धन है, वह आधा-आधा कर ले। यह धन मादक पदार्थो से कमाया या आतंकवाद से, इसके बारे में कोई नहीं पूछेगा। इससे साफ है कि यह नोटबंदी क्यों की गई। केजरीवाल ने कहा, “नोटबंदी देश में अब तक का सबसे बड़ा घोटाला है। मोदी ने यह नोटबंदी गरीबों के लिए नहीं, बल्कि अपने दोस्तों का काला धन सफेद करने के लिए की है।”

केजरीवाल ने मेरठ में आयोजित पार्टी की जनसभा को संबोधित करते हुए केंद्र सरकार पर जमकर निशाना साधा। मीडिया पर भी तंज कसते हुए उन्होंने कहा कि मीडिया उनकी बात नहीं दिखाएगी, इसलिए मेरा भाषण मोबाइल में रिकार्ड करके ले जाओ और मोहल्लों में दिखाना। यह भी पढ़ेंः नोटबंदी के विरोध के कारण ममता बनर्जी को जान से मारने की साजिशः तृणमूल कांग्रेस

केजरीवाल ने कहा, “नोटबंदी के बहाने भाजपा वालों ने अपना कालाधन ठिकाने लगाया है। बड़े लोगों का आठ लाख करोड़ रुपये माफ करने की तैयारी चल रही है। नोटबंदी की योजना काला धन बंद करने के लिए नहीं, बल्कि अपने लोगों को फायदा पहुंचाने के लिए लाई गई है।”

उन्होंने केंद्र सरकार से पूछा कि जिन बड़े लोगों ने बैंकों का पैसा दबाया, उन्हें अब तक जेल क्यों नहीं भेजा गया। केजरीवाल ने कहा, “कांग्रेस ने 2जी, कोयला घोटाला किया और मोदी जी ने दो साल में आठ लाख करोड़ रुपये का घोटाला किया। विजय माल्या को मोदी जी ने जहाज में बिठा कर लंदन भिजवा दिया। माल्या पर आठ हजार करोड़ रुपये ऋण बकाया है।”

दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि मोदी को सरकार चलाना नहीं, लोगों को लाइन में लगाना आता है। उन्होंने देश को धोखा दिया। पार्टी नेता संजय सिंह ने लोगों से अपील किया कि वे फर्जी देशभक्ति के ढोंग में न आएं।