पीएम मोदी ने नोटबंदी का फैसला लिया और देश में नोट बंद हो गए। पीएम के इस फैसले का जहां पर खुलकर लोग समर्थन कर रहें हैं तो कई लोग इस फैसले का विरोध भी कर रहें हैं। लेकिन अपने फैसले को लेकर पीएम मोदी अब भी अडिग है और भ्रष्टाचार और कालेधन पर लगाम लगाने के लिए हर कोशिश कर रहें हैं। लेकिन यह एक मात्र बदलाव नही है। पीएम मोदी के डिजिटल इंडिया के सपने का एक और नया बदलाव जल्द देखने को मिलेगा। आपको जानकर हैरानी होगी की जो राशनकार्ड आप उपयोग में लाते हैं उसमें जल्द ही बड़ा बदलाव होने वाला है।

आपको बता दें पहला राज्य हिमाचल प्रदेश बनने वाला है जहां पर सबसे पहले यह स्मार्ट राशन कार्ड चालू होने वाला है। अब हिमाचल प्रदेश के राशनकार्ड धारकों को मार्च महीने से राशन स्मार्ट कार्ड पर ही मिलेगा। सरकार द्वारा राशनकार्ड के डिजिटाइजेशन पर करीब 20 करोड़ रुपए खर्च किए जा रहे हैं। स्मार्ट राशनकार्ड बनाने का काम आरम्भ कर दिया है और इसका काम निजी कंपनी को सौंपा है। यह भी पढ़ें: वाराणसी: खुले में शौच किया तो रद्द होगा राशनकार्ड

rashncard

आपको जानकर हैरानी होगी की राज्य में डिजिटाइजेशन के निर्णय से अब 1,54,276 राशनकार्डों की संख्या कम हो गई है। इससे पहले प्रदेश में राशनकार्डों की संख्या 18,18,399 थी लेकिन फर्जी राशनकार्ड पकड़े जाने के डर से अधिकांश लोग नए आवेदन दे ही नही रहे हैं। आवेदन में आई कमी के कारण संख्या अब 16,64,123 रह गई है। हिमाचल प्रदेश के तकरीबन 4400 दुकानों में यह पॉस मशीन मशीनें स्थापित हो जाएंगी। विभाग का मानना है की इस पहल से कालाबाजारी पर लगाम लगेगी।