तमिलनाडु के मदुरै शहर में विभिन्न जगहों पर छापामारी कर राष्ट्रीय जांच एजैंसी (एन.आई. ए.) ने अल कायदा के 3 संदिग्ध सदस्यों को सोमवार को गिरफ्तार किया। चौकानेवाली बात यह है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की हत्या का षड्यंत्र रच जाने का भंडाफोड़ हुआ है। पुलिस ने बताया कि तीनों प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सहित देश के 22 शीर्ष नेताओं पर कथित रूप से हमले की योजना बना रहे थे। उन्होंने कहा कि गिरफ्तार आरोपी भारत में स्थित विभिन्न देशों के दूतावासों को धमकाने में शामिल थे।

अधिक जानकारी देने से इन्कार करते हुए पुलिस ने बताया, ‘आतंकियों के पास से विस्फोटक पदार्थ और हथियारों को भी जब्त किया गया है।’ एनआइए सूत्रों ने बताया कि तीन आतंकियों को तो गिरफ्तार करने में सफलता मिल गई है, लेकिन अन्य दो आतंकियों हकीम और दाऊद सुलेमान को पकड़ने में जांच एजेंसी जुटी हुई है। यह भी-पीएम मोदी का विरोध करने पर अपने पति से तलाक को तैयार है यह महिला, देखिए वीडियो…

दैनिक जागरण की खबर के अनुसार जो तीन संदिग्ध गिरफ्तार किए गए हैं, उनकी पहचान एम करीम, आसिफ सुल्तान मुहम्मद और अब्बास अली के रूप में हुई है। करीम को उस्माननगर, आसिफ सुल्तान मुहम्मद को जीआर नगर और अब्बास अली को इस्माइलपुरम से गिरफ्तार किया गया है। उनके पास से विस्फोटक पदार्थ भी बरामद किए गए हैं।

पुलिस ने बताया कि एनआइए ने अलकायदा के इन आतंकियों की हरकतों के बारे में पुख्ता सूचना जुटाने के बाद ही गिरफ्तारी की है। इन पर पिछले दस दिनों से सुरक्षा एजेंसियां नजर बनाए हुए थीं। तीनों से पूछताछ की जा रही है। यह भी पढ़े-प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की हत्या करने के लिए रची जा रही है बड़ी साज़िश?

गौरतलब है कि इस साल की शुरुआत में बेंगलुरु से अलकायदा आतंकी मौलाना अंजर शाह को गिरफ्तार किया गया था। वह संगठन के स्लीपर सेल से जुड़ा हुआ था। उस पर नौजवानों की भर्ती करने की जिम्मेदारी थी। देश में अलकायदा से जुड़ी यह चौथी गिरफ्तारी थी। इससे पहले भी इस आतंकी संगठन के तीन सदस्य गिरफ्तार किए जा चुके थे।