गुड़गांव| राष्ट्रीय सुरक्षा गार्ड (एनएसजी) के एक कमांडो ने मानेसर शिविर में अपने फ्लैट में आज अपनी पत्नी और साली को गोली मारने के बाद कथित रूप से आत्महत्या कर ली. पुलिस ने बताया कि एनएसजी कमांडो जितेन्द्र यादव उत्तर प्रदेश का रहने वाला था. वह सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) में एएसआई था. पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, ‘‘वह एनएसजी में पांच वर्षों के लिए प्रतिनियुक्ति पर था और पिछले दो वर्षों से मानेसर शिविर में तैनात था.’’

पुलिस को एनएसजी शिविर के फ्लैट संख्या 42 से गोलीबारी के बारे में सूचना मिली। पुलिस अधिकारी ने बताया, ‘‘पुलिस टीम को परिवार के तीन सदस्य जमीन पर पड़े हुए मिले. ऐसा लगता है कि जितेन्द्र ने अपनी पत्नी गुंजन और साली खुशबू को गोली मारने के बाद खुद भी गोली मार ली.’’ उन्होंने बताया कि गुंजन और खुशबू को अस्पताल ले जाया गया और उनकी हालत खतरे से बाहर है. पुलिस ने बताया कि घटना की जांच की जा रही है.