सरकार ने पेट्रोल पंपों और हवाईअड्डों पर टिकट खरीद में पुराने 500 रुपये के नोट के उपयोग पर शनिवार से रोक लगाने का फैसला किया है. इससे पहले, सरकार ने पिछले सप्ताह जन-उपयोगी सेवाओं के बिल, पेट्रोल खरीदने, मोबाइल रिचार्ज, रेल टिकट और हवाईअड्डों पर हवाई टिकट खरीदने के लिए 15 दिसंबर तक 500 रुपये के पुराने नोट के उपयोग की छूट दी थी. 500 के पुराने नोटों के दुरुपयोग की शिकायत मिलने के बाद दो दिसंबर की मध्यरात्रि से हवाईअड्डों और पेट्रोल पंपों पर पुराने नोट के उपयोग की छूट वापस लेने का फैसला किया गया है. एलपीजी की आपूर्ति छूट श्रेणी में बनी रहेगी और इसका भुगतान पुराने 500 रुपये के नोट में किया जा सकेगा। सरकार को शिकायत मिली थी कि 500 के पुराने नोटों का इस्तेमाल कालेधन को सफेद करने में हो रहा है।

अब 500 रुपये के पुराने नोटों का इस्तेमाल सार्वजनिक सेवाओं के बिल भुगतान, घरेलू एलपीजी सिलेंडर की खरीद, रेलवे टिकट, सरकारी अस्पताल व दवा दुकान में भुगतान, 2000 रुपये तक की स्कूल की फीस और सरकारी बीज भंडार से खरीदारी में 15 दिसंबर तक हो सकेगा। यह भी पढ़े-आज से सैलरी वीक शुरू, बैंकों में नहीं होगी कैश की किल्‍लत, सरकार ने किये हैं ये खास इंतजाम

पेट्रोल पंपों पर हो रहा है कालेधन को सफेद करने का काम!
वित्त मंत्रायल का मानना है कि कई जगहों पर पेट्रोल पंप वाले कमिशन लेकर पुराने नोट बदलने का काम कर रहे हैं. क्योंकि पेट्रोल पंप को ऑयल कंपनी को पैसा चैक से देना होता है। ऐसे में जब पेट्रोल पंप पर पांच सौ के पुराने नोट आते हैं तो वह उन्हें बैंक में जमा कर देते हैं और नए नोटों को कमीशन लेकर बदलने के काम में लगा देते हैं. कई जगहों पर पेट्रोल पंप वाले 30-35 फीसदी कमीशन ले रहे हैं।

यहां आपको बता दें कि 500 के पुराने नोट के इस्तेमाल की छूट हटाने के बाद आप पुराने पांच सौ के नोट 30 दिसंबर तक बैंक में बदलवा सकते हैं। इतना ही नहीं 31 मार्च तक रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया की शाखाओं में भी पुराने नोट बदलवा सकते हैं। हालांकि अभी जरूरी सेवाओं सरकारी अस्पताल, दूध बूथ जैसे जगहों पर 500 के पुराने नोट मान्य होंगे। यह भी पढ़े-7 दिसंबर तक सामान्य होगी कैश सप्लाई, 500 के नोट ज्यादा छापेगा रिजर्व बैंक

गौरतलब है कि आठ दिसंबर को जब पीएम मोदी ने नोटबंदी की घोषणा की थी तो 500 व 1000 के पुराने नोटों के जरूरी सेवाओं में इस्तेमाल के लिए 72 घंटे की छूट दी गयी थी। बाद में इसकी अवधि बढ़ायी गयी। 24 नवंबर को 1000 के पुराने नोट का जरूरी सेवाओं में इस्तेमाल पर रोक लगा दी गयी। 500 के पुराने नोट के इस्तेमाल को लेकर तीसरी बार आदेश में बदलाव किया गया है।

दूसरी तरफ राष्ट्रीय राजमार्गों (एनएच) पर पुराने नोट में टोल के भुगतान के लिए मिली छूट भी शुक्रवार को समाप्त हो जायेगी. एनएच के सभी टोल प्लाजा में कार्ड स्वैप (पीओएस) मशीनें लगायी गयी हैं। इसके जरिये लोग अपने क्रेडिट या डेबिट कार्ड के जरिये भुगतान कर सकते हैं। हालांकि दो दिसंबर की मध्यरात्रि से 200 रुपये से अधिक के टोल या फास्ट टैग की खरीद के लिए 500 रुपये के उपयोग की अनुमति होगी। टोल ई-वालेट के जरिये भी दिया जा सकता है। यह भी पढ़े-नोटबंदी: जन धन खातों से अब एक महीने में निकाले जा सकेंगे केवल 10 हजार रुपये

ताजा अधिसूचना के मुताबिक बिजली, पानी के बिल का भुगतान, रेलवे टिकट खरीदने तथा सार्वजनिक क्षेत्र के परिवहन निगम की बसों में यात्रा के लिये टिकट खरीदने में पुराने 500 रुपये के नोट 15 दिसंबर तक स्वीकार किये जायेंगे लेकिन पेट्रोल पंप और हवाईअड्डों से हवाई टिकट खरीदने के लिये तीन दिसंबर से इन्हें स्वीकार नहीं किया जायेगा। तीन दिसंबर 2016 से आपको यदि हवाईअड्डे पर विमान यात्रा का टिकट खरीदना है, पेट्रोल पंप पर ईंधन खरीदना है अथवा राष्ट्रीय राजमार्ग पर टोल का भुगतान करना है तो यह काम केवल नये नोट से भुगतान करके ही किया जा सकेगा। बैंकों के डेबिट, क्रेडिट कार्ड पहले की तरह इस्तेमाल किये जा सकेंगे।