नई दिल्ली: कांग्रेस ने गुरुवार को कहा कि भारत के प्रधान न्यायाधीश दीपक मिश्रा के खिलाफ महाभियोग प्रस्ताव लाने के विकल्प अभी भी मौजूद हैं. कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और प्रसिद्ध वकील कपिल सिब्बल ने संवाददाताओं से कहा, ‘सर्वोच्च न्यायालय में जो हो रहा है, हम उससे बहुत चिंतित हैं. चार न्यायाधीशों द्वारा उठाए गए मुद्दों पर अभी भी कोई सुनवाई नहीं हुई. हमारे पास महाभियोग प्रस्ताव का विकल्प अभी भी है.’

यह पूछे जाने पर कि हाल ही में खत्म हुए बजट सत्र में महाभियोग प्रस्ताव क्यों नहीं लाया गया, उन्होंने कहा कि यह कोई कॉफी बनाने का काम नहीं है. यह एक सर्वोच्च संस्थान का मामला है. यह बहुत बुरी बात होगी कि विपक्ष कदम उठाता है. फिर भी हमें भारी मन से यह कदम उठाना होगा, लेकिन इसका यह मतलब नहीं कि आगे के लिए विकल्प समाप्त हो गया. यह बहुत गंभीर मुद्दा है.

सत्र के दौरान कांग्रेस ने महाभियोग प्रस्ताव लाने के लिए राज्यसभा के 50 से ज्यादा सदस्यों के हस्ताक्षर कराए थे, लेकिन तृणमूल कांग्रेस जैसे दलों ने अड़ंगा लगा दिया. कांग्रेस ने यह कहते हुए प्रस्ताव रोक दिया कि वह ज्यादा से ज्यादा दलों का समर्थन चाहती है. (इनपुट-एजेंसी)