नई दिल्ली. काले हिरण के शिकार मामले में सलमान खान को सजा मिलने के बाद पाकिस्तान के विदेश मंत्री ख्वाजा आसिफ ने गैरजिम्मेदाराना प्रतिक्रिया दी है. उन्होंने कहा, सलमान को पांच साल की सजा इसलिए दी गई है क्योंकि वह अल्पसंख्यक यानी की मुसलमान हैं. यह भारत में भेदभाव को दिखलाता है.

पाकिस्तानी चैनल जियो न्यूज को दिए एक इंटरव्यू में आसिफ ने कहा, सलमान को एक ऐसे केस में सजा दी गई है जो 20 साल पुराना है. ये बताता है कि वहां मुस्लिम कैसे रहते हैं. वहां ईसाइयों को भी कोई नहीं पूछता. वहां जिस समुदाय की सरकार है, सलमान उसी से ताल्लुक रखते तो उन्हें इतनी बड़ी सजा नहीं मिलती.

बता दें कि जोधपुर की एक अदालत ने दो काले हिरणों का अक्तूबर 1998 में शिकार करने मामले में सलमान को पांच साल की कैद की सजा सुनाई थी. अदालत ने सलमान पर 10,000 रुपये का जुर्माना भी लगाया था. अदालत ने उन्हें जोधपुर सेंट्रल जेल भेज दिया.

क्‍या है पूरा मामला
साल 1998 में जोधपुर में अपनी फिल्म ‘हम साथ-साथ हैं’ की शूटिंग के दौरान सलमान खान पर काले हिरण का शिकार करने के आरोप लगे थे. इस केस में उन्हें गिरफ्तार भी किया गया था. साथ ही सलमान पर ये भी आरोप लगा कि उन्होंने ऐसे हथियार रखे, जिनके लाइसेंस की मियाद निकल चुकी थी. सलमान पर हिरण शिकार के तीन मामलों समेत कुल चार मामले दर्ज किए गए थे. इनमें से हिरण शिकार के दो मामलों में सलमान को निचली अदालतों से सजा सुनाई गई थी. उस समय सलमान को जेल भी जाना पड़ा था. बाद में हाईकोर्ट ने सलमान को दोनों मामलों में बरी कर दिया था.इस केस को लगभग 20 साल हो गए हैं और आज कोर्ट के फैसले में सलमान खान को दोषी करार दिया गया.

इससे पहले भी जेल जा चुके हैं सलमान
इससे पहले सलमान शिकार के मामले में ही कुल 18 दिनों के लिए तीन बार साल 1998, 2006 और 2007 में भी जोधपुर जेल में रह चुके हैं. गौरतलब है कि मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट देव कुमार खत्री ने 1998 में हुई इस घटना के संबंध में 28 मार्च को मुकदमे की सुनवाई पूरी की थी. सलमान खान को अदालत ने वन्यजीव (संरक्षण) कानून के प्रावधान 9/51 के तहत दोषी करार दिया. इस कानून के तहत दोषी को अधिकतम छह साल कैद की सजा हो सकती है. दरअसल, काला हिरण एक विलुप्तप्राय जंतु है और वन्यजीव (संरक्षण) अधिनियम – 1972 की अनुसूची एक में शामिल है. सलमान पर आरोप है कि उन्होंने एक अक्तूबर 1998 को जोधपुर के निकट कांकाणी गांव के भागोडा की ढाणी में दो काले हिरणों का शिकार किया था. यह घटना ‘हम साथ साथ है’फिल्म की शूटिंग के दौरान की है.