नई दिल्ली. पाकिस्तान ने भारत से कहा है कि वह सिंधु नदी बेसिन पर भारतीय परियोजनाओं के निरीक्षण के लिए उसके अधिकारियों को आने की इजाजत दे. इस पर भारत ने कहा है कि यह सिंधु नदी संधि के प्रावधानों के अनुरूप कराया जाएगा. सरकारी सूत्रों ने यह जानकारी दी.

पाकिस्तान ने दोनों देशों के बीच स्थाई सिंधु आयोग (पीआईसी) की दो दिवसीय बैठक के दौरान यहां यह मांग की. इससे पहले पाकिस्तानी अधिकारियों के दल ने साल 2014 में भारत में सिंधु नदी बेसिन की यात्रा की थी. सूत्रों ने बताया कि पीआईसी की 114वीं बैठक के दौरान दोनों देश जम्मू कश्मीर में भारत की दो जलविद्युत परियोजनाओं पाकाल डल तथा लोअर कलनाई पर अपने पहले के रूख पर कायम रहे.

बता दें कि पाकिस्तान को जम्मू कश्मीर के चेनाब बेसिन पर चल रही दोनों परियोजनाओं पाकल डल (1000 मेगावॉट) और लोअर कलनई (48 मेगावॉट) के डिजाइन पर आपत्ति है. उसका तर्क है कि यहां 1960 की सिंधु जल संधि का उल्लंघन करती है.