नई दिल्ली। पेट्रोल और डीजल की बढ़ती कीमतों से भले ही देश का आम आदमी बेहाल है लेकिन केंद्रीय पर्यटन राज्यमंत्री केजे अल्फोंस ने इसे सही ठहराया है. समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक अल्फोंस ने कहा कि पेट्रोल और डीजल खरीदने वाले लोग भूखे नहीं मर रहे हैं. पेट्रोलियम उत्पादों से मिलने वाला पैसा गरीबों के कल्याण के लिए निवेश किया जाएगा यह फैसला सरकार ने सोच समझकर लिया है.

अवैध संपत्ति मामले में कांग्रेस नेता चंद्रकांत कवलेकर के घर पर एसीबी का छापा

अवैध संपत्ति मामले में कांग्रेस नेता चंद्रकांत कवलेकर के घर पर एसीबी का छापा

अल्फोंस ने कहा कि हम यहां गरीबों के कल्याण, मकान और शौचालय जैसे कामों के लिए हैं जिसके लिए पैसे की जरूरत होती है. पैसे की जरूरत टैक्स के जरिए पूरी होगी. इसलिए जो सक्षम हैं उन्हें टैक्स देना ही होगा. उन्होंने कहा, ‘पेट्रोल कौन खरीदता है, जिसके पास कार, बाइक होगा निश्‍चित तौर पर वह भूखा तो नहीं होगा. जो इसका भुगतान कर सकता है उसे करना होगा.’

राज्यमंत्री ने अपने बयान में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का जिक्र किया. उन्होंने कहा कि पेट्रोलियम उत्पादों से जो पैसा आ रहा है उसे हमारे प्रधानमंत्री चुरा नहीं रहे हैं. सरकार ने यह फैसला सोच-समझकर लिया है. अल्फोंस ने कांग्रेस पर भी हमला बोला.

अल्फोंस के अनुसार एनडीए सरकार की नीतियां बिल्कुल स्पष्ट हैं. ये सरकार गरीबों के लिए है. हम गरीबों के आवास-विकास के लिए प्रतिबद्ध हैं इसलिए सक्षम लोगों पर टैक्स लगाया जाता है.