नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के स्वागत के संबंध में गृह मंत्रालय ने राज्यों को एक आदेश जारी किया है. आदेश के मुताबिक, पीएम मोदी को स्वागत गुलदस्ता नहीं बल्कि खादी का रुमाल या किताब भेंट कर के करें. गृह मंत्रालय की ओर से सभी राज्य सरकारों के चीफ सेक्रेटरी और संघ शासित प्रदेश के प्रशासकों को भेजे पत्र में पीएम मोदी के स्वागत संबंधी उनके अनुरोध का पालन सुनिश्चित करने को कहा गया है.

मंत्रालय द्वारा भेजे पत्र में कहा गया है कि भारत के अंदर किसी भी राज्य के दौरे पर पीएम के स्वागत में संबंद्ध राज्य सरकार के प्रतिनिधियों द्वारा उन्हें गुलदस्ता (बुके) भेंट स्वरूप न दिए जाएं. सबसे बेहतर तो यह होगा कि उन्हें गुलदस्ते के बजाए महज एक फूल ही दिया जाए.’

इतना ही नहीं मंत्रालय ने राज्य सरकारों से यह भी कहा है कि स्वागत के दौरान पीएम को फूल के साथ खादी का एक रुमाल या कोई एक किताब भी अगर भेंट स्वरूप दी जाती है, तो इसमें कोई हर्ज नहीं होगा. मंत्रालय ने राज्य सरकारों के सभी सक्षम प्राधिकारियों से प्रधानमंत्री के स्वागत संबंधी इस निर्देश का पालन सुनिश्चित करने का अनुरोध किया है.

पीएम मोदी ने हाल ही में एक समारोह के दौरान लोगों से तोहफे में ‘बुके की बजाय बुक’ देने की अपील की थी. मोदी अब अपने स्वागत में फूलों के गुलदस्ते या अन्य तोहफे लेने से परहेज करेंगे. नए आदेश के तहत, मोदी जिस किसी भी राज्य के दौरे पर जाएंगे वहां उनका स्वागत खादी का रुमाल या किताब भेंट कर के किया जाएगा.

गृह मंत्रालय के इस आदेश के बाद कहा जा रहा है कि मोदी सरकार ने खादी को बढ़ावा देने की पहल की है. पीएम के स्वागत में  कीमती फूलों के गुलदस्ते या अन्य तोहफे देने के बदले खादी का रुमाल दिए जाने के फैसले को सराहा जा रहा है. सोशल मीडिया पर लोगों ने इस फैसले की खूब प्रशंसा की है.