नई दिल्ली। पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने सोमवार को छोटे और सीमांत किसानों के दो लाख रुपये तक के फसल कर्ज को माफ करने की घोषणा की है. इस साल मार्च में पंजाब विधानसभा चुनावों के दौरान कांग्रेस के प्रमुख चुनावी वादों में से यह एक था. घोषणा से कृषि कर्ज माफी का रास्ता तैयार हो गया है.

विधानसभा में बोलते हुए मुख्यमंत्री ने उल्लेख किया कि पांच एकड़ तक जमीन वाले 8.75 लाख किसानों सहित 10.25 लाख किसानों को फायदा होगा. उन्होंने कहा कि प्रख्यात अर्थशास्त्री टी हक के नेतृत्व वाले विशेषज्ञ समूह की अंतरिम रिपोर्ट के आधार पर फैसला किया गया. विशेषज्ञ समूह को राज्य में बदहाल किसानों की मदद के लिए रास्ता सुझाने का जिम्मा सौंपा गया था.

मुख्यमंत्री ने सदन में जब इसकी घोषणा की उस वक्त विपक्षी शिरोमणि अकाली दल और बीजेपी के सदस्य सदन में मौजूद नहीं थे. विपक्षी सदस्यों ने एक अन्य मुद्दे पर वाकआउट किया था. हालांकि मुख्य विपक्षी पार्टी आप मौजूद थी.