नई दिल्ली| कांग्रेस राष्ट्रीय उपाध्यक्ष राहुल गांधी इन दिनों चुनाव-प्रचार के लिए गुजरात दौरे पर हैं और वहीं राहुल से एक भूल हो गई और वो महिला शौंचालय में घुस गए. प्रचार के लिए छोटापुर जिला पहुंचे राहुल गांधी अपने इवेंट ‘संवाद’ के तहत युवाओं से मुलाकात के लिए आए थे. इवेंट के बाद राहुल हॉल से बाहर निकले और शौंचालय की तरफ गए और जब तक वो समझ पाते तब तक वो महिला शौचालय में घुस गए थे.


ऐसा इसलिए हुआ क्योंकि शौचालय के बाहर ऐसी कोई विशेष पहचान नहीं थी जिससे महिला-पुरुष शौचालय का पता लगाया जा सके. हालांकि शौचालय के बाहर एक पोस्टर चिपका था, जिसपर गुजराती में लिखा ‘महिला माटे शौचालय.’ सूत्रों के अनुसार राहुल गुजराती में लिखे पोस्टर को पढ़ नहीं सके और महिला शौचालय में घुस गए. गलती पता चलते ही राहुल गांधी तुरंत शौचालय से बाहर आए लेकिन इस दौरान बाहर खड़े लोग उन्हें देखकर मुस्कुराने लगे और तब तक पूरी घटना मीडिया के कैमरे में कैद हो गई थी.

इससे पहले बीते मंगलवार को राहुल गांधी ने अहमदाबाद के एक कॉलेज में छात्रों को संबोधित करते हुए कहा था कि बीजेपी का मुख्य संगठन आरएसएस है और आरएसएस में कितनी महिलाए हैं? आपने ऐसी कोई शाखा देखी है जहां महिलाएं शॉर्ट्स पहनकर जाती हैं. मैंने ऐसा नहीं देखा. राहुल के इस बयान को बीजेपी महिलाओं का अपमान बताया था. बीजेपी नेता और गुजरात की पूर्व सीएम आनंदीबेन पटेल ने राहुल के बयान पर कांग्रेस से माफी की मांग की थी.

वहीं राहुल गांधी के बयान का खंडन करते हुए आरएसएस विचारक राकेश सिन्हा ने राहुल की बहन प्रियंका गांधी को आरएसएस में हिस्सा लेने का न्योता दिया और कहा कि वे खुद देखें कि आरएसएस में महिलाओं के साथ कैसा व्यवहार किया जाता है.