नई दिल्ली। कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने आज एक फिल्मी ग़ज़ल के शब्दों की मदद से राजधानी और आसपास के क्षेत्रों में फैले वायु प्रदूषण के खतरनाक स्तर के कारण आम आदमी को हो रही परेशानियों को बयां करते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर परोक्ष रूप से निशाना साधा. 

अमेठी में बोले राहुल, मोदी साफ कह दें कि हमसे कुछ नहीं हो पाया  

अमेठी में बोले राहुल, मोदी साफ कह दें कि हमसे कुछ नहीं हो पाया  

राहुल ने कहा, क्या बताएंगे साहेब, सब जानकर अंजान क्यों हैं? उन्होंने ट्वीट कर कहा, सीने में जलन, आंखों में तूफ़ान सा क्यों है, इस शहर में हर शख़्स परेशान सा क्यों है, क्या बताएंगे साहेब, सब जानकार अंजान क्यों है? राहुल गांधी ने ये शब्द दरअसल ‘गमन’ फिल्म के लिए लिखी गई शहरयार की ग़ज़ल से लिए हैं.

दिल्ली और आसपास के क्षेत्रों में पिछले कुछ दिनों वायु प्रदूषण का स्तर इतना बढ़ गया है कि वह सभी वर्गों के लिए एक भारी परेशानी का कारण बना हुआ है. कांग्रेस उपाध्यक्ष पिछले कुछ समय से प्रधानमंत्री मोदी और उनकी सरकार पर निशाना साधने के लिए शेरो-शायरी का सहारा ले रहे हैं.

इससे पहले राहुल ने गुजरात में एक चुनावी रैली के दौरान जीएसटी को लेकर मोदी सरकार को घेरा था. उन्होंने जीएसटी को गब्बर सिंह टैक्स बताया. उनके इस जुमले को खूब लोकप्रियता मिली और विरोधियों ने इसे लेकर मोदी सरकार को निशाने पर लिया. इससे तिलमिलाई बीजेपी ने भी राहुल पर पलटवार किया.