नई दिल्ली। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी का पीएम नरेंद्र मोदी पर हमले का सिलसिला जारी है. राहुल ने इसी सिलसिले को आगे बढ़ाते हुए आज दलितों के मुद्दे पर पीएम मोदी को फिर निशाने पर लिया. राहुल ने नरेंद्र मोदी पर जातिवादी और दलित विरोधी होने का आरोप लगाया और कहा कि भाजपा की दमनकारी विचाराधारा के खिलाफ उनकी पार्टी हमेशा खड़ी रहेगी.

राहुल के साथ उपवास से पहले कांग्रेस नेताओं ने खाए छोले-भटूरे, वायरल हुआ फोटो

राहुल के साथ उपवास से पहले कांग्रेस नेताओं ने खाए छोले-भटूरे, वायरल हुआ फोटो

सांप्रदायिकता और संसद में व्यवधान के खिलाफ कांग्रेस के राष्ट्रव्यापी उपवास का नेतृत्व कर रहे राहुल ने राजघाट पर कहा कि अगले साल होने वाले आम चुनाव में कांग्रेस भाजपा के नेतृत्व वाले एनडीए को पराजित करेगी. राहुल ने कहा, पूरा देश जानता है कि प्रधानमंत्री मोदी दलित विरोधी हैं. यह छुपा नहीं है. भाजपा दलितों, आदिवासियों और अल्पसंख्यकों का दमन करने की विचारधारा का अनुसरण करती है. हम उसके खिलाफ खड़े होंगे और साल 2019 के आम चुनाव में उसे पराजित करेंगे.

बीजेपी के दलित सांसदों का दिया हवाला

राहुल ने कहा कि भाजपा के दलित सांसद कहते हैं कि प्रधानमंत्री मोदी जातिवादी हैं. बता दें कि एससी-एसटी एक्ट को लेकर भारत बंद के दौरान व्यापक हिंसा हुई थी. इसके बाद से दोषियों की धरपकड़ का काम जारी है. बीजेपी के दलित सांसद उदित राज सहित यूपी के कुछ सांसदों ने पीएम मोदी को पत्र लिखकर कहा था कि भारत बंद के बाद से दलितों का उत्पीड़न तेज हो गया है.

बता दें कि नरेंद्र मोदी सरकार की कथित नाकामियों, दलितों के मुद्दे और संसद ठप होने के खिलाफ कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के नेतृत्व में कांग्रेसी सोमवार को दो घंटे का उपवास पर बैठे. इस दौरान देश भर के जिला मुख्यालयों पर भी कांग्रेसियों ने प्रदर्शन किया. लेकिन राहुल का राजघाट पर बापू की प्रतिमा के सामने उपवास पर बैठने के दौरान कई विवाद हो गए. पहले वहां सज्जन कुमार और जगदीश टाइटलर के पहुंचने पर विवाद हुआ तो इसके बाद एक फोटो वायरल हो गया जिसमें कांग्रेस के नेता नाश्ता करते दिखे.