नई दिल्ली। कांग्रेस की राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी का मानना है कि अब राहुल गांधी के हाथ में पार्टी की कमान सौंपने का वक्त आ गया है. एनडीटीवी से बातचीत करते हुए सोनिया गांधी ने कहा बहुत सालों से पूछा जा रहा है कि राहुल गांधी अध्यक्ष कब बनेंगे?  उन्होंने कहा कि इस समय उनकी निगाहें गुजरात और हिमाचल प्रदेश में होने वाले विधानसभा चुनावों पर हैं, राहुल इन चुनावों में पूरी तरह व्यस्त हैं, लेकिन जल्द ही उन्हें एक बड़ी जिम्मेदारी और दी जाएगी.

कांग्रेस में उपाध्यक्ष राहुल गांधी की ताजपोशी अटकलें तेज हो चली हैं. अलग अलग राज्य राहुल को अध्यक्ष बनाने के लिए प्रस्ताव पारित कर रहे हैं. वरिष्ठ नेता वीरप्पा मोइली ने शुक्रवार को कहा कि 2019 में राहुल ही देश का असली चेहरा होंगे और प्रधानमंत्री के तौर पर वापस लौटेंगे. इन सबपर भी, राहुल के लिए अभी खुद को साबित कर लेना बाकी है. गुजरात में वह पूरा दम खम लगा रहे हैं लेकिन वह कांग्रेस को विजय के द्वार तक लेकर जा पाते हैं या नहीं, इसपर पूर्ण विश्वास करना थोड़ा मुश्किल जरूर है.

Gujarat takes to Rahul Gandhi warmly on his yatra: Will it translate into votes? | गुजरात चुनाव 2017ः  बीजेपी के ‘रास्ते’ पर चल रहे राहुल गांधी, क्या काम आएगा दांव?

Gujarat takes to Rahul Gandhi warmly on his yatra: Will it translate into votes? | गुजरात चुनाव 2017ः बीजेपी के ‘रास्ते’ पर चल रहे राहुल गांधी, क्या काम आएगा दांव?

राहुल गुजरात में 800 किलोमीटर की यात्रा कर रहे हैं. यह यात्रा केंद्र गुजरात के खेडा, आणंद, वडोदरा, छोटा उदयपुर, दाहोद और पंचमहल से होकर गुजर रही है. राहुल आम सभाओं में जनता से संवाद के लिए 28 जगहों पर रुकेंगे. वह पीएम मोदी, बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह में रणनीति के तहत हमले कर रहे हैं. यात्रा के दूसरे चरण में उन्हें नादियाड के संतराम मंदिर, पेटलाड के रनछोड मंदिर, दाहोद के कबीर मंदिर और फागवेल के भाठीजी महाराज मंदिर का दौरा भी करना है. गऊ को आहार खिलाना भी उनकी यात्रा में शामिल है.