मुंबई: बैंकों में वैध करेंसी नोटों को जमा करने के लिए लोगों को प्रोत्साहित करने की दिशा में रिजर्व बैंक ने कहा कि वैध करेंसी नोट जमा करने वाले ग्राहक मौजूदा सीमा से अधिक राशि निकाल सकेंगे. आरबीआई ने बैंकिंग तंत्र में नोटों का सर्कुलेशन बढ़ाने के उद्देश्य से यह कदम उठाया है.

नए नियमों के मुताबिक अगर कोई मान्य करेंसी नोट ( 2000, 500, 100, 50, 20, 10 या 5 रुपये) जमा करता है तो उसकी साप्ताहिक निकासी सीमा मौजूदा बढ़ जाएगी। मसलन, अगर किसी ने चार हजार रुपये जमा किए तो उसके लिए नकद निकासी सीमा 24 हजार से बढ़कर 28 हजार रुपये हो जाएगी। चालू खातों के लिए छोटे व्यापारियों के वास्ते निकासी सीमा प्रति सप्ताह 50,000 रुपये है। यह भी-पीएम मोदी का विरोध करने पर अपने पति से तलाक को तैयार है यह महिला, देखिए वीडियो…

सोमवार देर शाम जारी एक सर्कुलर में आरबीआई ने कहा कि खातों से नकदी निकासी पर मौजूदा सीमा को देखते हुए कुछ जमाकर्ता अपना पैसा बैंक खातों में जमा करने से हिचकिचा रहे हैं।

चालू खातों के लिए छोटे व्यापारियों के वास्ते निकासी सीमा प्रति सप्ताह 50,000 रुपये है। देर शाम जारी एक सर्कुलर में आरबीआई ने कहा कि खातों से नकदी निकासी पर मौजूदा सीमा को देखते हुए कुछ जमाकर्ता अपना पैसा बैंक खातों में जमा करने से हिचकिचा रहे हैं। यह भी पढ़े-खुशखबर: एटीएम से 2000 की जगह मिलेंगे अब 2500 रुपये, बैंक से बदल सकेंगे 4500 रुपये

गौरतलब है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 8 नवंबर 2016 को 500 और 1000 रुपये नोट को बंद करने की घोषणा की थी। इसके बाद कैश की कमी होने पर सरकार ने निकासी की सीमा तय कर दी थी। पहले यह सीमा एक दिन में 10 हजार रुपये और हफ्ते में अधिकतम 20 हजार रुपये तय की गई, जिसे बाद में बढ़ाकर 24 हजार रुपये किया गया। इसके अलावा किसानों और छोटे व्यापारियों के लिए भी नियमों में ढील दी गई।