जम्मू: जम्मू-कश्मीर के राजौरी जिले में स्थित बाबा गुलाम शाह विश्वविद्याल में एक छात्रा ने अपने प्रोफेसर पर यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया है. छात्रा के आरोप पर जम्मू कश्मीर सरकार ने मामले में जांच के आदेश दे दिए हैं. छात्रा ने बुधवार को प्रोफेसर के खिलाफ यौन उत्पीड़न की शिकायत दर्ज कराई थी.

उपायुक्त शाहिद इकबाल चौधरी ने कहा, ‘‘बाबा गुलाम शाह विश्वविद्यालय के एक प्रोफेसर के खिलाफ एक छात्रा की यौन उत्पीड़न की गंभीर शिकायत की जांच शुरु कर दी गयी है.’’ उन्होंने कहा, ‘‘ स्पीड पोस्ट से प्राप्तशिकायत के अलावा रिकार्डेड बातचीत की सीडी के सबूत के आधार पर प्रथम दृष्टया मामला बनता है.’’

उपायुक्त ने इस शिकायत के सिलसिले में विश्वविद्यालय के कुलपति को नोटिस जारी किया है. शिकायत मुख्य रूप से प्रो. शाह के खिलाफ है. हालांकि, कुलपति और रजिस्ट्रार के खिलाफ भी गंभीर आरोप लगाए गए हैं. उनपर कई बार शिकायत किए जाने के बाद भी आरोपी के खिलाफ कार्रवाई नहीं कर एवं मामले की जांच नहीं कराकर आरोपी को बचाने का आरोप है. उपायुक्त ने रजिस्ट्रार, प्रो शाह, प्रॉक्टर, हॉस्टल के वार्डन, प्रशासनिक अधिकारी समेत विश्वविद्यालय के अधिकारियों को तलब किया है.

विश्वविद्याल में छात्राओं की सुरक्षा एक बड़ा मुद्दा है. आए दिन देश ही नहीं बल्कि विदेश में भी किसी न किसी विश्वविद्यालय से छात्राओं के साथ यौन उत्पीड़न की खबरें आती रहती हैं. मामला तब और गंभीर हो जाता है जब विश्वविद्यालय में छात्राओं के संरक्षक की भूमिका निभाने वाले शिक्षकों पर ही यौन उत्पीड़न का आरोप लगता है. इससे पहले भी दिल्ली के जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय में प्रोफेसर अतुल जौहरी पर भी कुछ छात्राओं ने यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया था. इस मामले में पुलिस पर ढीली कार्रवाई करने का आरोप भी लगा था. छात्राओं द्वारा लगातार पुलिस स्टेशन के सामने आंदोलन करने के बाद ही पुलिस ने प्रोफेसर को गिरफ्तार किया था.