नई दिल्ली। बीजेपी के बागी सांसद शत्रुघ्न सिन्हा ने संकेत दिया है कि वह अगला लोकसभा चुनाव किसी और पार्टी के टिकट पर भी लड़ सकते हैं. एक न्यूज चैनल से बाचीत में उन्होंने कहा कि उनके जैसे कई नेताओं से मोदी सरकार बनने के पहले दिन से ही गलत तरीके से बर्ताव हुआ है. इसी के साथ सिन्हा ने ये भी कहा कि वह अपनी पटना साहिब सीट नहीं छोड़ेंगे और यहीं से चुनाव लडे़ंगे.

सिन्हा ने कहा, मेरे पास दूसरी पार्टियों के ऑफर हैं. मैं अपनी पार्टी में रहूं या दूसरी पार्टी में या निर्दलीय ही चुनाव मैदान में उतरू, ये मायने नहीं रखता. उन्होंने कहा, पिछले लोकसभा चुनाव में भी अफवाह उड़ी थी कि मुझे बीजेपी से टिकट नहीं मिलेगा. लेकिन मेरे नाम का ऐलान आखिरी पलों में उसी सीट से हुआ. अब मैं दोबारा ऐसी अफवाहें सुन रहा हूं.

लालू यादव से मिले शत्रुघ्न सिन्हा, जमकर की तारीफ, बढ़ाई सियासी हलचल

लालू यादव से मिले शत्रुघ्न सिन्हा, जमकर की तारीफ, बढ़ाई सियासी हलचल

एनडीए सरकार में मंत्री रहे सिन्हा ने कहा कि मैं पटना साहिब सीट से रिकॉर्ड वोटों से जीता था. मैंने पिछला रिकॉर्ड जीता था. मैंने अपना ही पुराना रिकॉर्ड तोड़ा था और देश में सबसे ज्यादा वोट हासिल किए थे. तो फिर मुझे टिकट क्यों नहीं मिलेगा? ये पूछे जाने पर कि क्या बीजेपी में उनके साथ सही बर्ताव नहीं हो रहा है, सिन्हा ने कहा, वो मेरे अपने लोग हैं, मैं उनके बर्ताव के बारे में बाहर नहीं बोल सकता. मेरी पार्टी जानती है कि मैं आहत हूं. अभी से नहीं बल्कि तभी से जबसे ये सरकार बनी है.

शत्रुघ्न के बीजेपी पर वार

ये पहली बार नहीं है जब सिन्हा ने अपने बयान से पार्टी को असहज किया हो. वह कई मौकों पर पार्टी को मुश्किल में डाल चुके हैं. 24 मार्च को ही शत्रुघ्न सिन्हा रांची पहुंचे और रिम्स अस्पताल में भर्ती लालू प्रसाद यादव से मुलाकात की. इस मुलाकात के बाद उन्होंने लालू की जमकर तारीफ की थी. इस मुलाकात ने बिहार में सियासी कयासबाजी को बढ़ा दिया.

10 मार्च को ही शत्रुघ्न सिन्हा ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से आंध्र प्रदेश और बिहार के लिए पैकेज की मांग की. उन्‍होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से आंध्र प्रदेश और बिहार के लिये ‘यथाश्रेष्ठ’ पैकेज मांगा. शत्रुघ्‍न सिन्हा ने कहा, सर ये सब क्या हो रहा है. आपने वादा किया था. सरकार ने वादा किया था. चंद्रबाबू नायडू और आंध्र प्रदेश निश्चित ही पैकेज के हकदार हैं. और हमारे बिहार और हमारे नीतीश भी पैकेज के हकदार हैं. इसके अलावा उन्होंने यूपी उपचुनाव में बीजेपी की हार पर भी पार्टी को नसीहत दी थी.