मुंबई. शिवसेना और बीजेपी के अंदर मची अंदरूनी कलह थमने का नाम नहीं ले रही है. भले ही केंद्र और राज्य में शिवसेना, बीजेपी के साथ हों लेकिन  दोनों के रिश्तों में बर्फ जमी हुई है . इनके बीच तनातनी का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि शिवसेना एक के बाद एक लगातार कई मुद्दों को लेकर बीजेपी पर हमला करती आ रही है.

हाल ही में शिवसेना के विधायक हर्षवर्धन जाधव ने ऐसा आरोप लगाया जिससे सूबे की राजनीति में नया मोड़ ला दिया है. हर्षवर्धन जाधव ने कहा है कि बीजेपी उनकी पार्टी से विधायकों को तोड़ अपनी पार्टी में शामिल करने की फिराक में है. इसके लिए बकायदे पांच-पांच करोड़ लालच दिया जा रहा है.

हार्दिक पटेल के 4 और वीडियो आए सामने, बीजेपी को दी चेतावनी

हार्दिक पटेल के 4 और वीडियो आए सामने, बीजेपी को दी चेतावनी

बता दें कि साल 2014 की लोकसभा चुनाव के बाद से शिवसेना और बीजेपी में खटास का दौर शुरू हो गया था. उसके बाद सीटों के बंटवारे को लेकर दोनों ही पार्टियों ने 2014 के विधानसभा चुनाव में अलग लड़ने का फैसला किया. लेकिन इस चुनाव में शिवसेना महज 63 सीटों पर थम गई और मोदी लहर का असर बीजेपी के लिए वरदान साबित हो गया. विधानसभा चुनाव में बीजेपी को 122 सीटें मिलीं. इसी के बाद से दोनों पार्टियों में कोल्ड वॉर शुरू हुआ और अब तक थमा नहीं है.

गौरतलब हो कि कुछ दिनों पहले उद्धव ठाकरे अपने बेटे आदित्य के साथ पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी से मिलने पहुंचे थे. ममता ने बीजेपी की आलोचना करने के लिए शिवसेना की प्रशंसा की थी. वहीं आदित्य ठाकरे ने एक ब्लॉग में बीजेपी  की कड़ी आलोचना की थी. ब्लॉग में आदित्य ने नोटबंदी के पीछे के इरादे को ‘संदिग्ध’ करार दिया था. साथ ही उन्होंने कहा कि नोटबंदी का फैसला देश और लोगों की उम्मीदों पर खरा नहीं उतरा.