सीबीएसई पेपल लीक की जांच झारखंड पहुंच गई है. चतरा के एसपी ने बताया कि पेपर 10वीं मैथ और 12वीं इकॉनमिक्स पेपर लीक मामले में तीन व्यक्तियों को गिरफ्तार किया गया है. तीनों के खिलाफ आईपीसी की धाराओं के तहत केस दर्ज किया गया है. वहीं, पुलिस ने 9 नाबालिगों को जुवेनाइल एक्ट के अंतर्गत हिरासत में लिया है. बता दें कि इससे पहले चतरा पुलिस ने छह लोगों को इस मामले में हिरासत में लिया था.

वहीं, दूसरी तरफ दिल्ली में छात्रों का प्रदर्शन जारी है. छात्रों के इस प्रदर्शन में एसएसएसी परीक्षा के आंदोलनकारी छात्र भी शामिल हो गए हैं. वहीं, विभिन्न छात्र संगठनों ने भी छात्रों के इस प्रदर्शन को समर्थन दिया है. बड़ी संख्या में छात्र संसद मार्ग पर प्रदर्शन कर रहे हैं. वह हाथों में तख्तिया लिए सीबीएसई और सरकार के खिलाफ नारेबाजी कर रहे हैं.

सीबीएसई दफ्तर पर भी प्रदर्शन
छात्रों का एक गुट सीबीएसई दफ्तर के बाहर भी प्रदर्शन करने पहुंचा. वहां पर छात्रों ने सीबीएसई के खिलाफ जमकर नारेबाजी की. वहीं, दूसरी तरफ कुछ छात्रों ने प्रीत विहार इलाके में जाम लगा दिया. इससे लोगों को मुसीबत का सामना करना पड़ा. पुलिस 60 लोगों से पूछताछ कर रही है. इनमें 10 व्हाट्सएप ग्रुपों के एडमिन भी शामिल हैं. इस तरह का कोई संकेत नहीं है कि इन पेपरों को शेयर करने के लिए पैसे लिए गए हैं.

गूगल की जानकारी का इंतजार
पुलिस ने गूगल से भी उस ई- मेल पते के बारे में जानकारी मांगी है जहां से सीबीएसई की प्रमुख को ई- मेल भेजकर सूचित किया गया था कि 10वीं कक्षा का गणित का पर्चा लीक हो गया है. इस बीच 10वीं के गणित और 12वीं के अर्थशास्त्र का पेपर लीक होने के मामले में झारखंड के चतरा जिले के छह छात्रों को हिरासत में लिया गया है. गणित के पेपर से जुड़ी शिकायत पर बोर्ड ने कहा कि परीक्षा से एक दिन पहले लीक के बारे में सीबीएसई अध्यक्ष की आधिकारिक ईमेल आईडी पर एक ई-मेल आया था.