जम्मू| पाकिस्तानी सेना द्वारा जम्मू कश्मीर के पुंछ जिले में नियंत्रण रेखा (LOC) के पास सीमावर्ती गांवों और भारतीय चौकी को निशाना बनाकर आज की गयी गोलीबारी में 40 वर्षीय एक महिला की मौत हो गयी. अधिकारियों ने यह जानकारी दी. रक्षा प्रवक्ता ने बताया कि पाकिस्तानी सेना ने बिना उकसावे के एलओसी के पास पुंछ सेक्टर में सुबह करीब सवा पांच बजे छोटे एवं स्वचालित हथियारों से अंधाधुंध गोलीबारी की तथा मोर्टार के गोले दागे. सीमा चौकियों पर तैनात भारतीय सेना के जवानों ने इसका जोरदार और प्रभावी ढंग से जवाब दिया.

उन्होंने बताया कि छह बज कर 4 मिनट पर दोनों ओर से गोलीबारी थम गई. पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि सुबह करीब पांच बजकर 20 मिनट पर सीमा पार से दागे गए मोर्टार के गोले गोहलाद कलरान गांव में रहने वाले मोहम्मद शबीर के घर के निकट गिरे, जिसमें विस्फोट होने से शबीर की पत्नी राकिया बी की मौत हो गई.

आठ अगस्त को पुंछ जिला के कृष्णाघाटी सेक्टर में पाकिस्तानी सेना की ओर से की गयी गोलीबारी और गोलाबारी में सिपाही पवन सिंह सुगरा (21) शहीद हो गए थे. इस साल एक अगस्त तक पाकिस्तानी सेना द्वारा संघर्षविराम उल्लंघन की 285 घटनाएं हुई हैं. वर्ष 2016 में यह आंकड़ा 228 से काफी कम था.

साथ ही आतंकवादियों ने जम्मू कश्मीर के कुपवाड़ा जिले में सेना के एक कैंप पर गोलीबारी की जिसमें एक जवान घायल हो गया. पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि आतंकवादियों ने रात में कालारूस इलाके में सेना की इमारत पर गोलियां चलाई जिसमें 17 जम्मू कश्मीर लाइट इंफैंट्री (जेएककेएलआई) के सुनील रंधावा घायल हो गए.

घायल जवान को द्रगमूला के एक सैन्य अस्पताल ले जाया गया जहां पर डॉक्टरों ने उसकी हालत स्थिर बताई. आतंकवादियों को पकड़ने के लिए सेना और पुलिस ने इलाके में तलाशी अभियान शुरू कर दिया है.