गुरुग्राम। रेयान इंटरनेशनल स्कूल में सात साल के मासूम की हत्या की जांच सीबीआई करेगी. शुक्रवार को हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने बच्चे के माता-पिता से मिलने के बाद सीबीआई जांच कराने का ऐलान किया. साथ ही साथ उन्होंने कहा कि गुरुग्राम स्थित रेयान इंटरनेशनल स्कूल भी तीन माह के लिए राज्य सरकार के अधीन रहेगा. तीन महीने तक स्कूल की देखरेख डिप्टी कमिश्नर करेंगे.

रेयान स्कूल के ट्रस्टी पिंटो फैमिली ने जमा किए पासपोर्ट, बॉम्बे हाई कोर्ट ने दिए थे आदेश

रेयान स्कूल के ट्रस्टी पिंटो फैमिली ने जमा किए पासपोर्ट, बॉम्बे हाई कोर्ट ने दिए थे आदेश

इस केस की सीबीआई जांच का ऐलान किए जाने के बाद मासूम के पिता ने संतोष जाहिर किया. उन्होंने कहा, ‘मुझे खुशी है कि इस केस को जिस तरह के संवेदनशीलता की जरूरत थी वो बरती जा रहा है.’ घोषणा से पहले सीएम खट्टर ने मृतक बच्चे के माता और पिता से मुलाकात की थी जिसमें सीबीआई जांच की मांग को दोहराया गया था. सीएम खट्टर ने केस की सीबीआई जांच का भरोसा दिया और फिर घोषणा कर दी.

रेयान मर्डर केस की अभी तक की अपडेट

हरियाणा के गुरुग्राम में भोंडसी स्थित रेयान स्कूल में 8 सितंबर को सात साल के मासूम की गला रेतकर हत्या कर दी गई थी. बच्चे के पिता ने अपनी अर्जी में स्कूल के ट्रस्टियों द्वारा दायर अग्रिम जमानत याचिका खारिज करने की मांग की थी. गुड़गांव पुलिस ने रेयान इंटरनेशनल स्कूल में बच्चे के मर्डर के मामले में मुख्य गवाह मानते हुए स्कूल के माली हरपाल सिंह को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया है.

मामले की जांच के लिए बनी एसआईटी के सीनियर अफसरों का कहना है कि टीम छोटे से छोटा सुराग नहीं छोड़ना चाहती. इस मामले में हरियाणा पुलिस ने अब तक मुख्य आरोपी कंडक्टर अशोक कुमार, एचआर हेड फ्रांसिस थॉमस और भोंडसी स्थित स्कूल कोऑर्डिनेटर को अरेस्ट किया है. वहीं, 55 से ज्यादा लोगों से पूछताछ हो चुकी है. फोरेंसिक टीम भी स्कूल में उस स्पॉट की जांच कर चुकी है, जहां बच्चे का मर्डर किया गया था.