नई दिल्ली: बीजेपी सांसद उदित राज ने आरोप लगाया है कि इस सप्ताह के शुरू में भारत बंद के दौरान हिंसक प्रदर्शन के बाद देश के विभिन्न हिस्सों में उनके दलित समुदाय के सदस्यों को प्रताड़ित किया जा रहा है. उदित राज ने एक ट्वीट में कहा कि दो अप्रैल को हुए आंदोलन में हिस्सा लेने वाले दलितों पर अत्याचार की खबरें मिल रही हैं यह रुकना चाहिए. उन्होंने कहा कि दो अप्रैल के बाद दलितों को देशभर में प्रताड़ित किया जा रहा है , बाडमेर , जालौर , जयपुर , ग्वालियर , मेरठ , बुलंदशहर, करौली और अन्य जगहों के लोगों के साथ ऐसा हो रहा है. न केवल आरक्षण विरोधी बल्कि पुलिस भी उन लोगों को पीट रही है. फर्जी मामले लगा रही है.

उत्तर पश्चिम दिल्ली सीट से सांसद उदित राज ने कहा कि ग्वालियर में उनके द्वारा चलाए जा रहे दलित संगठन के एक कार्यकर्ता को प्रताड़ित किया गया. हालांकि उसने कुछ भी गलत नहीं किया था. उल्लेखनीय है कि अनुसूचित जाति / जनजाति ( अत्याचार निवारण ) अधिनियम को कथित रूप से कमजोर किए जाने के खिलाफ दो अप्रैल को किए गए भारत बंद के दौरान हुए हिंसक प्रदर्शन में कम से कम 11 लोगों की मौत हो गई थी और कई अन्य घायल हो गए थे.

इस बीच उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और उप-मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने शनिवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात की. उनकी मुलाकात ऐसे समय में हुई है जब उत्तरप्रदेश से दलित समुदाय के कुछ बीजेपी सांसदों ने अपनी ही सरकार के खिलाफ मोर्चा खोलते हुए प्रधानमंत्री को पत्र लिखे हैं. मुख्यमंत्री कार्यालय के सूत्रों ने बताया कि आदित्यनाथ ने राज्य में अंबेडकर जयंती के अवसर पर 14 अप्रैल को आयोजित होने वाले कार्यक्रम के विषय में चर्चा की.

गौरतलब है कि अनुसूचित जाति, जनजाति अत्याचार निवारण अधिनियम (एससी/एसटी एक्ट) को लेकर आए सुप्रीम कोर्ट के हालिया फैसले के विरोध में सोमवार को दलित और आदिवासी संगठनों की ओर से बुलाए बंद के दौरान देश के कोने-कोने से हिंसा भड़कने की रिपोर्ट आई. 10 से ज्यादा राज्यों में हिंसा भड़कने की खबरें मिलीं. मध्य प्रदेश के ग्वालियर और मुरैना में भड़की हिंसा में कम से कम चार लोगों को मौत हो गई. वहीं, राजस्थान के अलवर और यूपी के मुजफ्फरनगर में एक-एक व्यक्ति की मौत हो गई. बिहार के वैशाली में प्रदर्शन के कारण लगे जाम में एंबुलेंस के फंसने से एक बच्चे की मौत हो गई. मध्यप्रदेश के मुरैना में गोली लगने से एक युवक की मौत हुई. बताया जा रहा है कि युवक प्रदर्शन में शामिल नहीं था. वह अपने छत पर खड़ा था.