दाउद इब्राहिम को एक के बाद एक बड़े झटके लग रहे हैं. इस बार मोस्ट वांटेड डॉन को ब्रिटेन से बड़ी चोट मिली है. ब्रिटेन में दाऊद की 4 हजार करोड़ की संपत्ति जब्त कर ली गई है. ये पहला मौका नहीं है जब दाऊद को किसी देश इतनी बड़ी संपत्ति गंवानी पड़ी हो. पहले भी वह अपनी दौलत इसी तरह गंवाता रहा है. दाऊद इब्राहिम 1993 के मुंबई विस्फोट मामलों में प्रमुख आरोपी है. उस घटना में 260 लोग मारे गए थे और सात सौ से ज्यादा लोग घायल हुए थे.

दाऊद इब्राहिम के पास वॉरविकशर में एक होटल और कई घर थे जिनकी कीमत हजारों करोड़ में है. इन्हें कल सील किया गया है. यह दाऊद के लिए बड़ा झटका माना जा रहा है. बताया जा रहा है कि संपत्ति 4 हजार करोड़ की थी.

यूएई में 15 हजार करोड़ की संपत्ति जब्त

इससे पहले दाऊद को यूएई से करारी चोट लगी थी. मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक इसी साल जून में यूएई सरकार ने राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोवाल के सौंपे डोजियर के आधार पर डॉन की 15 हजार करोड़ की संपत्ति सील कर दी थी. दाऊद पर ये अब तक की सबसे बड़ी चोट थी. दाऊद ने मुंबई के बाद यूएई में ही अपना अड्डा बनाया था और बेहिसाब संपत्ति जमा की थी.

इसी तरह दिसंबर 2015 में दाऊद की मुंबई के सबसे पॉश इलाके में बने होटल की नीलामी हो गई. इसकी कीमत कुल 4 करोड़ 28 लाख रुपये थी जिसे एक वरिष्ठ पत्रकार एसएस बालाकृष्णन ने खरीद लिया था.  यानि दाऊद की दौलत दिन ब दिन कम होती जा रही है. दूसरी तरफ भारत सरकार की तरफ से लगातार उस पर दबाव है. ऐसी ही अगर उसकी संपत्ति जब्त होती रही तो उसका खजाना खाली हो जाएगा. आखिर कब तक डॉन अपनी दौलत इस तरह लुटता देखता रहेगा?

ब्रिटेन से मिली दोहरी चोट

ब्रिटेन से दाऊद को दोहरी चोट मिली है. पहले पाकिस्तान में उसके नाम-पते का खुलासा किया गया, अब 4 हजार करोड़ की संपत्ति जब्त हो गई. पिछले महीने ही ब्रिटेन की सरकार ने दाऊद को आर्थिक पाबंदियों वाली सूची में भी शामिल किया था. इस संबंध में भारत पहले ही ब्रिटेन को डॉजियर सौंप चुका था. ब्रिटेन में दाऊद की संपत्ति जब्त होने का दावा वहां के एक अखबार ने किया है. वहां दाऊद ने कई घर और होटल खरीदी थी. फोर्ब्स मैगजीन के मुताबिक दुनिया के मोस्ट वॉन्टेड गैंगस्टर्स में से एक दाऊद इब्राहिम के पास 6.7 अरब डॉलर की संपत्ति है. उसे दुनिया का दूसरा सबसे अमीर गैंगस्टर माना जाता है.

भारत ने दिए कई बार सबूत

भारत कई बार पाकिस्तान को दाऊद के उसके यहां होने से सबूत दिए हैं, लेकिन अपनी आदत से मजबूर पड़ोसी देश ने हर बार इन्हें नकारा है. 30 अगस्त को रिटायरमेंट से एक दिन पहले केंद्रीय गृह सचिव राजीव महर्षि ने कहा था कि भगोड़ा माफिया सरगना दाऊद इब्राहिम पाकिस्तान में है और कानून का सामना करने के लिए दाऊद को भारत लाने में वह देश रोड़े अटका रहा है. महर्षि ने कहा कि सरकार सभी जरूरी कार्रवाई कर रही है ताकि दाऊद इब्राहिम को भारत वापस लाया जा सके. उन्होंने कहा कि दाऊद इब्राहिम पाकिस्तान में है. उस देश ने उसे शरण दी है. वह देश दाऊद को कानून का सामना करने के लिए भारत लाने में रोड़े अटका रहा है.

ब्रिटेन की लिस्ट में दाऊद का नाम

पिछले महीने अगस्त में ब्रिटेन की ओर से जारी अद्यतन वित्तीय प्रतिबंध वाली सूची में भारत का सबसे वांछित आतंकवादी दाऊद एकमात्र भारतीय नागरिक है. इस लिस्ट में माफिया सरगना दाऊद के 21 उपनाम भी सूचीबद्ध हैं. माफिया सरगना का नाम ब्रिटेन के वित्त विभाग की ‘कान्सालिडेटेड लिस्ट ऑफ फाइनेंनशियल टार्गेट्स इन द यूके’ में है और इसमें पाकिस्तान में उसके तीन दर्ज पते भी हैं जहां वह कथित रूप से रहता है. कासकर दाऊद इब्राहिम के बारे में दर्ज है कि वह मकान नम्बर 37, स्ट्रीट नम्बर 30..डिफेंस हाउजिंग अथॉरिटी, कराची, पाकिस्तान: नूराबाद, कराची, पाकिस्तान (पर्वतीय क्षेत्र में आलीशान बंगला) और व्हाइट हाउस, सऊदी मस्जिद के पास, क्लिफ्टन, कराची, पाकिस्तान में रहा है. रिकार्ड में चौथा पता पिछले साल तक हाऊस नम्बर 29,मरगल्ला रोड, एफ 6:2 स्ट्रीट नम्बर 22, कराची, पाकिस्तान था जो अब रिकार्ड में नहीं है.