पंचकुला| डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम और अन्य के खिलाफ हत्या के दो मामलों में शनिवार को सुनवाई के मद्देनजर यहां सुरक्षा व्यवस्था बढ़ा दी गई है। यह मामला डेरा प्रमुख के अनुयायियों और उसके लिए काम करने वालों की ओर से कथित रूप से सिरसा के पत्रकार राम चंद्र छत्रपति और डेरा मैनेजर रंजीत सिंह की हत्या से जुड़ा हुआ है. इस मामले की सुनवाई सीबीआई के विशेष न्यायाधीश जगदीप सिंह करेंगे, जिन्होंने इससे पहले 25 अगस्त को दुष्कर्म के दो मामलों में राम रहीम को 20 वर्ष की सश्रम कारावास की सजा सुनाई थी.

हरियाणा पुलिस महानिदेशक बी.एस. संधू ने शुक्रवार को बताया कि पंचकुला के सेक्टर 1 स्थित अदालत परिसर एवं अन्य क्षेत्रों में कानून व्यवस्था की स्थिति बनाए रखने के लिए बड़ी संख्या में अर्धसैनिक बलों और हरियाणा पुलिस के जवानों को तैनात किया गया है. पंचकुला में शनिवार की सुनवाई से पहले डेरा समर्थकों के जमा होने की कोई खबर नहीं है, इससे पहले 25 अगस्त को हुई सुनवाई में यहां एक लाख से ज्यादा लोग एकत्रित हो गए थे.

रेयान हत्याकांडः माता-पिता से मिलने के बाद सीएम खट्टर ने किया सीबीआई जांच का ऐलान

रेयान हत्याकांडः माता-पिता से मिलने के बाद सीएम खट्टर ने किया सीबीआई जांच का ऐलान

पुलिस अधिकारियों ने बताया कि दुष्कर्मी राम रहीम को शनिवार को सीबीआई की अदालत में पेश नहीं किया जाएगा. उसकी पेशी जिला जेल सुनारिया से ही वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से होगी. उल्लेखनीय है कि छत्रपति और रंजीत सिह की 2002 में हत्या कर दी गई थी. राम रहीम दोनों मामलों में आरोपी है. उस पर कथित रूप से हत्या के लिए आदेश देने का आरोप है. दुष्कर्म मामले में 25 अगस्त को दोषी ठहराए जाने के बाद राम रहीम के समर्थकों की हिंसा में 38 लोग मारे गए थे और 264 घायल हो गए थे.