लखनऊः उन्नाव गैंगरेप मामले में पीड़िता के पिता की पुलिस हिरासत में मौत के मामले में बीजेपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर का एक ऑडियो सामने आया है. इसमें बीजेपी विधायक पीड़ित के परिवार को धमका रहे हैं. ऑडियो में सुना जा सकता है कि विधायक मामले को खत्म करने का दबाव बना रहे है. कुलदीप सिंह इस बातचीत के दौरान इशारों-इशारों में यह स्वीकराते करते भी सुनाई दे रहे हैं कि पीड़ित के परिवार के साथ मारपीट क्यों हुई. विधायक जी पीड़ित परिवार के सवालों के जवाब में यह कहते है कि हमारे खिलाफ पर्चा क्यों लगवाते हो? बीजेपी विधायक अपने भाई अतुल सिंह द्वारा पीड़ित परिवार के सामने गलती स्वीकार करने की बात कह रहे है.

बीजेपी विधायक बातचीत में यह भी कहते दिख रहे हैं कि हमारे परिवार से ज्यादा सगा तुम्हारे लिए कोई नहीं है, इसलिए मामले को खत्म करो. विधायक कुलदीप सेंगर इस बातचीत में पीड़ित पक्ष से सभी को चुप रहने के लिए कह रहे हैं.आपको सुनाते है कैसे बीजेपी विधायक ने पीड़िता के चाचा से बातचीत की और क्या-क्या कहा.

पीड़ित के चाचाः नमस्ते
कुलदीप सिंह सेंगरः हां बताओ
पीड़ित के चाचाः ये क्या करवा रहे हो नेता जी?
कुलदीप सिंह सेंगरः कहां भैय्या
पीड़ित के चाचाः गांव में क्या करवा रहे हो? ये तो ठीक काम नहीं है, मरवाना, पिटवाना, बच्चों को, सबको ये अच्छी बात नहीं है
कुलदीप सिंह सेंगरः हमारे खिलाफ पर्चा क्यों छपवाते हो?
पीड़ित के चाचाः मैंने नहीं छपवाया
कुलदीप सिंह सेंगरः किसने छपवाया?
पीड़ित के चाचाः अब ये आप पता करो मैंने नहीं छपवाया
कुलदीप सिंह सेंगरः अब ये तुम बताओगे हम किससे पता करें?
पीड़ित के चाचाः मेरे व्हाट्सऐप पर आया, मैंने आगे फारवर्ड किया मैं इतना गुनहगार हूं. मेरी एक औलाद है मैं कहां खड़ा होना है बताओ
कुलदीप सिंह सेंगरः जो हुआ सब खत्म, हमारा तुम्हारा है, तुम हमारे पास आओ, हम तुम मिलकर एक नया अध्याय शुरू करते है. अतुल तुम्हारे ज्यादा सगे है कि कोई दूसरा तुम्हारा ज्यादा सगा है ? अतुल सगे है? अतुल सगे हैं तो बात खत्म हो गई, अतुल अपने काम की मेरे सामने गलती मानेंगे. महेश अपने काम की हमारे सामने गलती मानेंगे. और हमारे तुम्हारे परिवार एक होकर रहेंगे…बस बात खत्म हो गई. अब तुम सबको कह दो कि चुपचाप बैठे और दद्दू से कल मिले. अम्मा हमसे कल मिलेंगी. हम अम्मा को बैठाल के चाय पीलाएंगे. ठीक?
पीड़ित के चाचाः ठीक है, ठीक है.
कुलदीप सिंह सेंगरः सबको रोको, सबको मना करो…
पीड़ित के चाचाः ठीक है…ठीक है…

पीड़िता के पिता की पुलिस कस्टडी में मौत को लेकर चीफ मेडिकल ऑफिसर (सीएमओ) एसपी चौधरी ने कहा है कि जब पीड़िता के पिता को अस्पताल लाया गया था तो उसकी आंत में गंभीर चोट लगी थी. मेडिकल ऑफिसर के मुताबिक गंभीर चोट की वजह से उसकी मौत हुई है. पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट को लेकर चीफ मेडिकल ऑफिसर एसपी चौधरी ने कहा कि जब पीड़िता के पिता को अस्पताल लाया गया तो उनकी हालत बहुत बुरी थी. उनके आंत में गंभीर चोट आई थी. मौत की वजह को लेकर उन्होंने कहा कि आंत फटने की वजह से उन्हें इंफेक्शन हो गया था, जिसकी वजह से मौत हुई.

क्या है मामला
युवती ने यूपी के उन्नाव जिले के बांगरमऊ से बीजेपी विधायक पर साथियों के साथ मिलकर रेप का आरोप लगाया था. युवती ने रविवार को कहा था कि ‘मैं न्याय के लिए भटक रही हूं, लेकिन कोई सुन नहीं रहा. अगर आरोपी अरेस्ट नहीं हुए तो मैं खुद को खत्म कर लूंगी. वहीं 3 अप्रैल को विधायक पक्ष ने शिकायत वापस लेने का दबाव बनाते हुए युवती के पिता से मारपीट की थी. इसके बाद उन्नाव पुलिस ने युवती के पिता पर ही कार्रवाई कर पकड़ लिया था. युवती के पिता की उन्नाव में पुलिस कस्टडी में संदिग्ध हालत में मौत हो गई.