देहरादून: स्टार्टअप इंक्यूबेटर कंपनी वेंचर कैटलिस्ट के सह-संस्थापक अपूर्व शर्मा ने स्टार्टअप को बढ़ावा देने के लिये उत्तराखंड में 100 करोड़ रुपये के निवेश करने की सोमवार को घोषणा की. मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने एमएसएमई विभाग और भारत सरकार के ‘इन्वेस्ट इण्डिया’ द्वारा आयोजित एक कार्यक्रम में ‘स्टार्टअप वैन’ को हरी झण्डी दिखाकर सोमवार को रवाना किया. इस मौके पर शर्मा ने कहा कि उनकी कंपनी राज्य में स्टार्टअप को बढ़ावा देने के लिए 100 करोड़ रुपये का निवेश करेगी.

उत्तराखंड के देवप्रयाग से ताल्लुक रखने वाले शर्मा ने कहा कि वह अपने राज्य के लिये कुछ करना चाहते है. वेंचर कैटलिस्ट ने ‘ओयो रूम्स’ जैसी प्रसिद्ध कम्पनियों को बढ़ावा दिया है. शर्मा ने यह भी कहा कि वह उत्तराखंड में स्टार्टअप उद्यमियों को निवेश उपलब्ध कराने के लिए अन्तरराष्ट्रीय स्तर का ‘एन्जल नेटवर्क’ विकसित करेंगे. उन्होंने प्रदेश में पहले से चल रहे इंक्यूबेटर्स को वित्तीय मदद देने का भी भरोसा दिया. इसके अलावा उन्होंने राज्य में एक नया स्टार्टअप इंक्यूबेटर बनाने की भी घोषणा की.

मुख्यमंत्री रावत ने इससे पहले कहा कि स्टार्टअप नीति का उद्देश्य युवा उद्यमियों को बढ़ावा देना है, जिससे राज्य का युवा रोजगार मांगने के स्थान पर रोजगार देने वाला बने. उन्होंने कहा कि उत्तराखंड में प्राकृतिक संसाधनों से संबंधित स्टार्ट अप की काफी संभावनाएं हैं और युवा उद्यमी स्टार्टअप के जरिए कई युवाओं को रोजगार प्रदान कर सकते हैं.

रावत ने कहा कि प्रदेश में लगभग 58 प्रतिशत आबादी युवाओं की हैं और राज्य सरकार उद्योगों के लिये अच्छा महौल उपलब्ध कराने हेतु संकल्पित है. कार्यक्रम में मुख्य सचिव उत्पल कुमार सिंह ने कहा कि इस स्टार्टअप यात्रा को बड़े शहरों के साथ-साथ छोटे शहरों तक भी ले जाया जाये तथा युवा उद्यमियों को अपनी बात रखने एवं शंका समाधान हेतु त्वरित प्रतिक्रिया वाला मंच उपलब्ध कराया जाए. (इनपुट-भाषा)