नई दिल्ली. सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत ने कहा कि चीन ताकतवर देश होगा, लेकिन भारत भी कमजोर देश नहीं है और भारत किसी को भी अपने क्षेत्र में घुसपैठ की अनुमति नहीं देगा. रावत ने कहा कि अब समय आ गया है कि भारत अपना ध्यान उत्तरी सीमा की ओर केंद्रित करे. उन्होंने यह भी कहा कि देश इसके साथ ही चीन की आक्रामकता से निपटने में भी सक्षम है.

महात्मा गांधी हत्या मामला: सुप्रीम कोर्ट ने कहा- महज एक फोटो के आधार पर हत्या की दोबारा जांच संभव नहीं

महात्मा गांधी हत्या मामला: सुप्रीम कोर्ट ने कहा- महज एक फोटो के आधार पर हत्या की दोबारा जांच संभव नहीं

सेना प्रमुख ने क्षेत्र में अपना प्रभाव बढ़ाने के आक्रामक चीन के प्रयासों के बीच कहा कि भारत अपने पड़ोसियों को देश से दूर होकर चीन के करीब नहीं जाने दे सकता. रावत ने यहां संवाददाताओं से कहा, चीन एक शक्तिशाली देश है लेकिन हम कमजोर देश नहीं हैं. उन्होंने भारत में चीनी घुसपैठ से जुड़े एक प्रश्न के उत्तर में कहा, हम किसी को भी हमारे क्षेत्र में घुसपैठ की अनुमति नहीं देंगे.

रावत ने आतंकवाद से निपटने को लेकर पाकिस्तान को दी गई अमेरिका की चेतावनियों के बारे में कहा कि भारत को इंतजार करना होगा और इसका असर देखना होगा. उन्होंने कहा कि पाकिस्तान में आतंकवादी केवल इस्तेमाल करके फेंकने की चीज हैं और भारतीय सेना का नजरिया यह सुनिश्चित करना रहा है कि उसे दर्द का एहसास हो.