जयपुर: भाजपा नेताओं के गुरुवार को प्रस्तावित उपवास करने को नकल बताए जाने के आरोपों को खारिज करते हुए राजस्थान के गृहमंत्री गुलाब चंद कटारिया ने कहा है कि भाजपा और उनके नेताओं को कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की देखा देखी करने की जरूरत नहीं है और ‘‘हमारा जन्म राहुल से बहुत पहले हुआ है.’’ कटारिया ने भाजपा मुख्यालय पर संवाददाताओं से बातचीत में भाजपा द्वारा उपवास करने पर राहुल की देखा देखी पर पूछे गए प्रश्न का जवाब देते हुए कहा, ‘‘राहुल को समझना चाहिए कि हम उनसे बहुत पहले जन्मे थे और हमें उनकी देखा देखी करने की जरूरत नहीं है.’’ उन्होंने कांग्रेस पर लोकसभा की कार्यवाही नहीं चलने देने का आरोप लगाते हुए कहा कांग्रेस के कारण लोकसभा में जनता के मुद्दों पर चर्चा नहीं हो सकी.

उन्होंने कहा कि कांग्रेस के उपवास का उद्देश्य स्पष्ट नहीं है. भाजपा ने ऐसी कौन सी नीति बनाई है या कार्यवाही की है जिसके कारण कांग्रेस नेताओं ने उपवास किया. उनके उपवास का उद्देश्य स्पष्ट नहीं है. उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री कांग्रेस द्वारा लोकसभा की कार्यवाही को बाधित करने के मुद्दे पर उपवास कर रहें हैं. कटारिया ने कहा कि वह कांग्रेस के विरोध का कारण जानना चाहते हैं.

उन्होंने कहा कि कांग्रेस को उपवास तब करना चाहिए जब राज्य सरकार विकास के मुद्दों पर पिछड़ी हो. कटारिया ने आरोप लगाया कि भाजपा नेताओं की जनसुनवाई के दौरान प्रदर्शन और रैली कांग्रेस प्रायोजित है जो कांग्रेस के नेता और कार्यकर्ता अपनी राजनीतिक सक्रियता बनाए रखने के लिये कर रहें हैं.

राजस्थान में हाल ही में हुए उपचुनावों की हार को स्वीकार करते हुए कटारिया ने कहा कि बूथ स्तर पर वोटिंग के लिये पार्टी कार्यकर्ता की जिम्मेदारी होती है. कार्यकर्ताओं को जितना कार्य करना चाहिए था उसमें कोई कमी रही होगी. अपने गृह विभाग के बारे में जानकारी देते हुए कटारिया ने कहा कि भारतीय दंड संहिता के तहत दर्ज किए जाने वाले मामलों में पिछले तीन सालों में 20 प्रतिशत की गिरावट आई है. उन्होंने बताया कि हालांकि इस वर्ष गत तीन महीनों में हुए विभिन्न विरोध के चलते अनुसूचित जाति- अनुसूचित जनजाति के अत्याचारों में क्रमश: 27 और 31 फीसदी की वृद्वि दर्ज की गई है.

(इनपुट: पीटीआई)