1985 में आई ‘राम तेरी गंगा मैली हो गई’ फिल्म ने जिस अदाकारा को रातों रात सुपर डुपर हिट कर दिया था, वो थीं मंदाकिनी. हाल में आई कपूर एंड संस में बुढ़उ ऋषि कपूर ने जब मंदाकिनी के लिए अपनी बौराहट पोतों से बताई तो नई पीढ़ी ने भी इस फिल्म और इसके 3 मिनट 50 सेकेंड के गाने को खूब सर्च कर डाला. यह गाना कई मायने में एकदम अनोखा है.

इसकी सबसे दिलचस्प बात ये थी कि ये बॉलीवुड के उन चंद गानों में शुमार है, जिसके ज्‍यादातर हिस्‍से को दर्शकों ने कानों से सुनकर नहीं बल्कि आंखों से देखकर खत्म किया. वो भी कई कई बार… जब फिल्‍म टीवी पर आ रही होती है, या इसके गाने कहीं चलते थे तो लोग आवाज ही म्यूट कर दिया करते थे. ये सिलसिला आज भी जारी है…

दाऊद से नजदीकी

अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद के संग कथित रिश्ते को लेकर भी मंदाकिनी चर्चा में रहीं. दोनों की साथ साथ तस्वीरें भी मीडिया में खूब छाईं. ऐसा बताया जाता है कि मंदाकिनी जब भी दुबई के दौरे पर होती थी, वो दाऊद के विला में ही स्टे करती थीं. कहने वाले तो ये तक कहते हैं कि दाऊद के शादीशुदा रहते दोनों के संबंधों की भनक डॉन की बीवी को भी थी.

अब बड़ा सवाल ये है कि मेरठ की यास्मीन जोसेफ उर्फ मंदाकिनी आज हैं कहां और क्या कर रही हैं? राज कपूर की फिल्म ‘राम तेरी गंगा मैली हो गई’ में सफेद साड़ी पहने झरने में नहाने वाली इस हिरोइन को लेकर दर्शक दीवाने हो उठे थे. मंदाकिनी ने 1990 में मर्फी बच्चे के साथ शादी कर ली थी. डॉ. काग्युर टी रिनपोचे ठाकुर 1970, 80 के दशक में मर्फी रेडियो के प्रिंट ऐड में नजर आते थे. बर्फी फिल्म में इसी मर्फी बच्चे का जिक्र आता है. ठाकुर ने बाद में बौद्ध धर्म स्वीकार कर लिया और बौद्ध भिक्षु बन गए. फिर मंदाकिनी के पति भी. हांलाकि उन्होंने धार्मिक रास्ता नहीं छोड़ा. इन दोनों के दो बच्चे हुए. बेटा रब्बील और बेटी राब्जे. रब्बील का 2000 में एक सड़क एक्सिडेंट में निधन हो गया.

मंदाकिनी ने जब राज कपूर जैसी बड़ी हस्ती के साथ फिल्म ‘राम तेरी गंगा मैली’ की थी तब वह सिर्फ 16 साल की थी. मेरठ के लोग आज भी उन्हें याद करते हैं. लेकिन वह चकाचौंध से दूर हैं. इस फिल्म से मंदाकिनी ने बहुत सफलता हासिल की. मंदाकिनी का करियर 1996 में फिल्म जोरदार के साथ खत्म हो गया.