अपने बच्चे के भविष्य को लेकर हमारे देश के पेरेंट्स ज़रूरत से ज्यादा फिक्र करते हैं। वो बच्चों की परवाह करते तो हैं, लेकिन बच्चे क्या चाहते हैं, इस बात की बहुत कम। पेरेंट्स को चाहिए कि उनका बच्चा डॉक्टर, इंजीनियर, पायलेट बन जाए, इसके लिए वो कुछ भी करने के लिए राज़ी रहते हैं। इसकी एक बानगी हाल में देखने को मिली जब Quora पर एक पेरेंट ने सबको हैरान करने वाला सवाल पूछ डाला। सवाल था – पांचवी क्लास में पढ़ रहे मेरे बच्चे के लिए, आईआईटी की तैयारी के लिए कौन सा इंस्टीट्यूट सबसे बढ़िया रहेगा? इतने छोटे बच्चे को आईआईटी की तैयारी में अभी से झोंकने की इच्छा रखने वाले पेरेंट को जवाब देने वालों ने आड़े हाथों लिया। किसी ने मज़ाक उड़ाया, तो किसी ने नसीहत दे डाली।

इस सवाल के 100 से ज्यादा जवाब मिले, उनमें से कुछ ये हैं –

विकास जाखर – सर मैं आपको कुछ सुझाव दे सकता हूं लेकिन आपका बच्चा बहुत लेट हो चुका है। आईआईटी की तैयारी तो 5वीं क्लास के पहले से ही शुरू हो जाती है। बल्कि ये तो बच्चे के पैदा होने से पहले ही शुरू हो जाती है।

अभिषेक – मेरे पास एक बेहतर आइडिया है। अगर आपकी वाइफ दोबारा प्रेगनेंट होती है तो उसे एचसी वर्मा और डीसी पांडे की किताब पढ़ने को देना। जैसे कि अभिमन्यू ने गर्भ में रहकर चक्रव्यूह के बारे में सीखा था, मुमकिन है आपके बच्चे को आईआईटी की शिक्षा जितना हो सकते उतनी जल्दी ही मिल जाए।

दिब्येश – अगर आपका बच्चा क्रिकेट या किसी और चीज में अच्छा है, तो फिर? उसे वैसा ही बनने दें, जैसा वो बनना चाह रहा है, न कि आप अपने हिसाब से तय करें।

कुलदीप सिंह – ये बात परेशाव करने वाली है कि लोग अभी भी ऐसा सोचते हैं कि वो अपने बच्चे के भविष्य का फैसला लेंगे। पूरी दुनिया थ्री इडियट्ल फिल्म का समर्थन करती है लेकिन शायद ये शख्स (सवाल करने वाला पेरेंट) इस फिल्म को समझा नहीं। या ये फिल्म उसने देखी नहीं। अगर नहीं देखी तो आपको देखनी चाहिए और समझने की कोशिश करनी चाहिए कि फिल्म का क्या संदेश है।

इस तरह के जवाबों के बाद सवाल करने वाले पेरेंट ने सफाई भी दी। उन्होंने कहा, जो लोग मुझे सलाह दे रहे हैं कि बच्चे को उसके सपने पूरा करने दिया जाए और उस पर दबाव न डाला जाए, मैं कहना चाहूंगा कि मेरा बच्चा बहुत छोटा है। उसे अच्छे बुरे की पहचान भी नहीं है। इसलिए अभिभावक तय करते हैं कि क्या बेहतर है। आईआईटी बहुत प्रतिष्ठित है और इससे आपके परिवार को गर्व महसूस होता है।